पीएम में आज दिखी भारतीय संस्कृति की झलक, अयोध्या के लिए हुए रवाना…

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर देशवासियों की 492 साल की प्रतीक्षा आज (बुधवार) खत्म हो रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी निर्धारित मुहूर्त में भूमि पूजन के साथ मंदिर निर्माण की आधारशिला का भी पूजन करेंगे। यह आधारशिलाएं नौ प्रस्तर खंडों में होंगी। इनमें नंदा, भद्रा, जया, रिक्ता, पूर्णा, अजिता, अपराजिता, शुक्ला व सौभाग्यनी शामिल हैं। पूजन के बाद इन शिलाओं को राम मंदिर में सुरक्षित रखा जाएगा।

पुन: नींव के लिए गर्भगृह का गहराई में उत्खनन होने पर रामलला के सिंहासन के ठीक नीचे इन्हें रखवाया जाएगा। आजादी के बाद  नरेंद्र मोदी पहले प्रधानमंत्री होंगे जो रामजन्मभूमि पहुंचेंगे। मोदी के मिनट टू मिनट कार्यक्रम के अनुसार वह पूर्वाह्न साढ़े 11 बजे साकेत महाविद्यालय के ग्राउंड पर विमान से उतरेंगे और सीधे हनुमानगढ़ी दर्शन करने जाएंगे। वे बजरंगबली का आशीर्वाद लेकर बहुप्रतीक्षित राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करेंगे। इसके साथ उसी परिसर में दुर्लभ परिजात का पौधरोपण करेंगे। 

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर भूमि पूजन करने के लिए दिल्ली से अयोध्या के लिए रवाना हो गए हैं। इस दौरान पीएम धोती और कुर्ते में नजर आ रहे हैं।

– राम मंदिर के भूमि पूजन की जगह की तस्वीरें। आज कार्यक्रम में मंच पर होंगे पीएम मोदी, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, राम मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपालदास, यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।

– हनुमान गढ़ी मंदिर के मुख्य पुजारी प्रेमदास जी महराज ने कहा, ‘पीएम मोदी का अयोध्या दौरा हमारे लिए गर्व की बात है।

– अयोध्या के हनुमान गढ़ी मंदिर में बाबा रामदेव ने कहा, ‘आज का दिन ऐतिहासिक है। यह दिन लंबे समय तक याद रखा जाएगा। मुझे पूरा विश्वास है कि राम मंदिर के निर्माण से भारत में ‘रामराज्य’ की स्थापना होगी।’

–  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अयोध्या पहुंचने से पहले हनुमान गढ़ी मंदिर को सैनिटाइज किया गया। आज पीएम मोदी राम मंदिर का भूमि पूजन करेंगे।

– झारखंड प्रदेश कांग्रेस ने भाजपा पर राम मंदिर के शिलान्यास में राजनीति का आरोप लगाया और कहा कि पार्टी बुधवार को समस्त राज्य में जिला कांग्रेस कार्यालयों तथा रांची स्थित प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में दीप प्रज्जवलित करेगी।

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी निर्धारित मुहूर्त में भूमि पूजन के साथ मंदिर निर्माण की आधारशिला का भी पूजन करेंगे। इस दौरान उत्तर प्रदेश सरकार के संस्कृति विभाग की ओर से पीएम मोदी को कोदंड राम की काष्ठ प्रतिमा भेंट किए जाने की तैयारी है। इस प्रतिमा को बंगलुरु के रामामूर्ति ने बनाया है। उन्हें कोदंड राम काष्ठ प्रतिमा बनाने के लिए राष्ट्रपति पुरस्कार मिल चुका है।

– अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन से ठीक पहले ओवैसी ने ट्वीट कर कहा है कि बाबरी मस्जिद थी, है और रहेगी।

– भविष्य के साक्ष्य के लिए पूजित ताम्र शिला भी रखी जाएगी। ढाई  गुना डेढ़ फुट के इस आयताकार ताम्र पत्र का अनावण भी प्रधानमंत्री मोदी करेंगे। इस ताम्र पत्र पर भूमि पूजन के आमंत्रण पत्र की इबारत को ही उत्कीर्ण कराया 
गया है। 

– जानकारी के मुताबिक, रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को लगातार प्राप्त हो रही रजत शिलाएं नींव में नहीं रखी जाएंगी। इन शिलाओं को भविष्य में मंदिर के गर्भगृह के चौखट इत्यादि में उपयोग किया जाएगा।

– रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र को नींव में रखने के लिए दो कुंतल से अधिक चांदी दान में प्राप्त हुई है। यह सिलसिला अभी थमा नही है। 

– राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बहुमूल्य धातुओं के बजाए धनराशि दान की अपील की है। कहा गया कि बहुमूल्य धातुओं को रखने के लिए अभी सुरक्षित स्थान नहीं है।

– पीएम मोदी दीप प्रज्जवलित कर भूमि पूजन समारोह का शुभारंभ करेंगे और सदियों के संघर्ष में अपने प्राणों की आहुति देने वाले हुतात्माओं को श्रद्धांजलि देंगे। 

 इस अवसर पर प्रधानमंत्री उत्तर प्रदेश संस्कृति विभाग की ओर से रामायण महाकोश पर आधारित डाक टिकट का  अनावरण करेंगे। इससे पहले वह लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पर उतरेंगे वहां से हेलीकाप्टर के जरिये अयोध्या पहुंचेंगे।

=>
LIVE TV