पडोसी जनपद प्रतापगढ़ के एसपी अनुराग आर्य ने दिया थानेदारों को ‘आपरेशन 300’ का टार्गेट

पडोसी जनपद प्रतापगढ़ के एसपी अनुराग आर्य ने थानेदारों को  ‘आपरेशन 300’ का टार्गेट का दिया है। हर थाने के टॉप टेन के साथ ही ऐसे अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई का टार्गेट मिला है, जो लूट, हत्या सहित संगीन वारदातों में शामिल रहे और अब तक पुलिस की गिरफत से दूर हैं। वैसे तो अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए समय-समय पर शासन के फरमान पर अभियान चलता रहता है, लेकिन जब से कानपुर जिले का बिकरू कांड हुआ है, तब से अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर प्रदेश सरकार और सख्त हो गई है। सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने टॉप टेन और इनामिया अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का फरमान जारी किया है। इसके बाद सभी थानों में नए सिरे से टॉपटेन अपराधियों को चिह्नित किया गया है।

हर थाने के टॉप टेन अपराधी और 100 इनामी बदमाशों पर कसेगा शिकंजा

जिले में कुल 20 थाने हैं, प्रत्येक थाने से 10-10 टॉपटेन अपराधियों की सूची बनाई गई है। इस तरह कुल 200 टॉपटेन के अपराधी पुलिस की रडार पर है। इसके अलावा करीब 100 इनामिया बदमाश हैं। इनमें से कुछ ऐसे बदमाश हैं जो 15 साल से अधिक समय से पुलिस की गिरफ्त में नहीं आ सके हैं।

ये हैं जिले के मोस्‍ट वांटेड बदमाश

जिले के मोस्ट वांटेड दो बदमाश संजय पटेल और मुकेश सरोज है। इन दोनों बदमाशों पर 50-50 हजार रुपये का इनाम घोषित है। संजय पटेल फतनपुर और मुकेश सरोज कोहंडौर थाना क्षेत्र का रहने वाला है। संजय पटेल इस साल जून महीने में पुलिस पार्टी पर  किए गए हमले में वांछित है। इसके अलावा लालगंज कोतवाली क्षेत्र के संगियापुर गांव का निवासी भानु दुबे शातिर बदमाश है, यह करीब चार साल पहले कोर्ट में पेशी के दौरान कचहरी से फरार हो गया था। फरारी के दौरान करीब दो साल पहले लालगंज बार एसोसिएशन के अध्यक्ष रहे धनंजय मिश्र की हत्या में भी उसका नाम प्रकाश में आया था। यह शातिर बदमाश अभी भी पुलिस के लिए चुनौती बना हुआ है। एसपी अनुराग आर्य का कहना है कि टॉप टेन अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। सक्रिय अपराधियों के खिलाफ गुंडा, गैंगस्टर एक्ट की कार्रवाई की जा रही है।

=>
LIVE TV