जानिये, कब सैलानी कर सकेंगे ताजमहल के असली कब्र का दीदार ?

Tajmahal-PIC_564ac071a94b1एजेंसी/ आगरा : मुगल शहंशाह शाहजहां के उर्स के मौके को ताजमहल में धूमधाम से मनाने की तैयारी जोरों पर है। इस उर्स में सैलानियों के लिए शाहजहां और उनकी पत्नी मुमताज के तहखाने में स्थित असली कब्र को दीदार के लिए खोला जाएगा।

असली कब्र को साल में एक बार उर्स के दौरान ही खोला जाता है। आम दिनों में सैलानी मुख्य गुंबद के उपर बनी कब्र की प्रतिकृति को ही देख पाते है। इस साल ताजमहल में उर्स 3 से 5 मई तक मनाई जाएगी। एक-दो दिनों में ताजमहल में उर्स पर होने वाले उत्सव के संबंध में उर्स कमेटी की बैठक होगी।

इस बैठक में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण, केंद्रीय औद्दोगिक सुरक्षा बल, प्रशासन व पुलिस के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे। इस बैठक में खासकर व्यवस्थाओं पर चर्चा की जाएगी। उर्स के दिन यानि 3 मई को दोपहर के दो बजे इसकी शुरुआत गुस्ल की रस्म से होगी।

अगले दिन 4 मई को संदल चढ़ाया जाएगा। 5 मई को वहां चादर और पंखे चढ़ाए जाएंगे। उर्स के पहले व दूसरे दिन दोपहर दो बजे से सूर्यास्त तक और आखिरी दिन सूर्योदय से सूर्यास्त तक ताज को पर्यटकों के लिए निःशुल्क खोला जाएगा।

=>
LIVE TV