चीन की इस हरकत से मायूस हैं डोनाल्ड ट्रंप, लेकिन अभी भी लगा रहे ये उम्मीद…

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप चीन के साथ व्यापारिक सौदे को लेकर मायूस हैं और संरक्षणवादी सलाहकारों द्वारा उनकी उपेक्षा की जा रही है। यह बात ट्रंप के पूर्व शीर्ष आर्थिक सलाहकार गैरी कोहन ने कही।

पब्लिक रेडियो शो एंड पॉडकास्ट फ्रीकोनोमिक्स को दिए एक साक्षात्कार में गोल्डमैन सैक्स के पूर्व प्रेसिडेंट ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति को जीत की आवश्यकता है और वह चीन के साथ सौदे से स्टॉक बाजार को प्रोत्साहन मिलने की उम्मीद करते हैं, जहां पिछले साल से अस्थिरता का माहौल बना हुआ है।

कोहन (58) ने 14 महीने तक ट्रंप प्रशासन में बतौर राष्ट्रीय आर्थिक परिषद के निदेशक सेवा प्रदान की। उनकी यह टिप्पणी राष्ट्रपति के बुधवार को व्हाइट हाउस में दिए गए उस बयान के बाद आई है, जिसमें उन्होंने कहा कि बीजिंग के साथ सौदे को लेकर वह जल्दबाजी में नहीं हैं। उन्होंने कहा कि हमेशा संभावना बनी रहती है कि वार्ता विफल हो सकती है।

वाशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार, राष्ट्रपति ने हालांकि चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के लिए फ्लोरिडा स्थित मार-ए-लागो में सौदे पर हस्ताक्षर के लिए शिखर सम्मेलन की मेजबानी करने की उत्सुकता जाहिर की है।

ट्रंप ने फरवरी में चीन के साथ व्यापारिक करार की संभावना के बारे में आशावादी दृष्टिकोण जाहिर किया था और चीनी वस्तुओं पर तय आयात शुल्क लगाने के प्रस्ताव को तत्काल टाल दिया था।

हाईस्कूल और इंटर की पढ़ाई के बाद शुरू हुई आगे की पढ़ाई की रेस, दो अप्रैल से डीयू में कैंपस प्लेसमेंट

अमेरिका एक मार्च से चीन से आयातित 200 अरब डॉलर मूल्य के उत्पादों पर आयात शुल्क 10 फीसदी से बढ़ाकर 25 फीसदी करने वाला था जिसे टाल दिया।

=>
LIVE TV