चंदौली के युवा ने बनाया अनोखा ऐप, अब फोन खोने का नहीं रहेगा डर

REPORT-KASHINATH/VARANASI

आईआईटी बीएचयू स्थित इनक्यूबेशन सेंटर की देखरेख में चंदौली के युवा मृत्युंजय सिंह ने एक ऐसा ऐप तैयार किया है जिसे यदि कोई अपने स्मार्टफोन में इंस्टॉल कर ले तो फोन खोने पर भी उसकी लोकेशन मिलती रहेगी। इसके अलावा डाटा और फोटो वीडियो आदि कंप्यूटर सिस्टम के जरिए फोन मालिक ही हटा सकता है। महिलाओं की सुरक्षा की दृष्टि से भी यह कमाल का है बस पावर बटन को दबा भर देने से संबंधित थाने घर और पूर्व स्थान पूर्व निर्धारित नंबरों पर अलर्ट चला जाएगा। फिलहाल इस एप को लेकर चारों तरफ उत्सुकता है।

चंदौली के युवा ने बनाया अनोखा ऐप, अब फोन खोने का नहीं रहेगा डर

मोबाइल चोरी होने पर सबसे अधिक डर डाटा खोलने का होता है। दरअसल ऐप इंस्टॉल करने पर फोन स्विच ऑफ करने के लिए पासवर्ड चाहिए होता है जो कि केवल आपको ही पता होता है इससे चोर फोन बंद नहीं कर पाएगा। जिससे लोकेशन ट्रैक की जा सकती है स्मार्ट फोन के डाटा को कंप्यूटर से वीजीएम की आईडी व पासवर्ड से रिकवर डिलीट कर सकते हैं ।

प्ले स्टोर पर एक हजार से ज्यादा डाउनलोड है इसकी रेटिंग 4.3 है देश की बेटियों के भीतर बढ़ रहे डर को तोड़ने का भी एक बेहतर प्रयास किया गया है ।मृत्युंजय बताते हैं कि इस ऐप को इंस्टॉल करने के बाद मोबाइल के पावर बटन को तीन बार प्रेस या तेजी से चेक करते हैं लोकेशन घर सहित पुलिस के आपातकालीन नंबर पर चली जाएगी। संदेश पहुंचेगा कि आप मुसीबत में हो। इसके बाद आपको ट्रैक किया जा सकता है। आप मोबाइल को पॉकेट से निकाले बिना यह काम आसानी से कर सकते हैं।

कोहरे से ढका पूरा मारवाड जंक्शन, कड़ाके की सर्दी ने बढ़ाई ठिठुरन…

ऐप का नाम वेरी गुड मॉर्निंग यानी ‘वीजीएम’ है। ऐप को लेकर मृत्युंजय ने वाराणसी के एसएसपी से मुलाकात की है उन्हें यह ऐप काफी पसंद आया है। उन्हें साइबर सेल में इसके प्रेजेंटेशन के लिए बुलाया गया है जिसके बाद आगे की रणनीति तैयार की जाएगी।आपको बता दें कि प्ले स्टोर से एप की तरह इसे भी इंस्टॉल किया जा सकता है। इसके बाद एप यूजर से मोबाइल एडमिनिस्ट्रेटर बनने के लिए परमिशन मांगेगा।

स्वीकृति के बाद उसके ईमेल पर एक कोड भेजा जाएगा ।इसी जरिए ऐप इंस्टॉल किया जा सकता है । आईआईटी बीएचयू के समन्वयक एवं उद्यमिता केंद्र iit-bhu के प्रोफेसर प्रदीप कुमार मिश्र बताया कि आईआईटी बीएचयू के मालवीय नवप्रवर्तन एवं उद्यमिता केंद्र ने एग्रीमेंट के बाद उनको काम करने के लिए यहां पर उचित सुविधाएं उपलब्ध कराई है। मृत्युंजय इनक्यूबेशन स्थित ऑफिस से ही के संचालन का कार्य कर रहे हैं।

=>
LIVE TV