गोल्फ खेलते हुए ट्रंप और आबे ने की अनौपचारिक बात-चीत, उठे ये मुद्दे

टोक्यो। जापान के दौरे पर आए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जापान के प्रधानमंत्री आबे शिंजो से यहां शुक्रवार को गोल्फ खेलने के मौके पर पहली अनौपचारिक वार्ता की। दोनों देशों के बीच व्यापारिक मुद्दों पर भी वार्ता हुई है।

एफे न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, यह तो नहीं पता चला है कि दोनों नेताओं में मैच किसने जीता लेकिन जापान के विदेश मंत्रालय ने बताया कि मैच मोबारा कंट्री क्लब में हुआ।

गोल्फ कोर्स में खेल के दौरान जापान के चर्चित गोल्फ खिलाड़ी इसाओ आओकी भी मौजूद रहे और उन्होंने भी मैच में हिस्सा लिया।

मंत्रालय के बयान के अनुसार, ‘आबे और ट्रंप ने एक दोस्ताना अनौपचारिक माहौल में अपनी दोस्ती को और गहरा किया।’

आबे ने गोल्फ कोर्स पर ट्रंप के साथ ली गई अपनी सेल्फी के साथ रविवार को ट्वीट में कहा कि वह ‘जापान-अमेरिका गठबंधन को नए जापानी युग में और मजबूत बनाएंगे।’

ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, “प्रधानमंत्री आबे शिंजो से मिलकर बहुत अच्छा लगा। कई जापानी अधिकारियों ने मुझसे कहा कि डेमोक्रेट मुझे या रिपब्लिक पार्टी को जीतता देखने के बजाए अमेरिका को विफल होते देखना चाहेंगे-नाकाम इच्छा।”

मंत्रालय ने बताया कि मैच से पहले दोनों नेताओं ने नाश्ता किया और बाद में दोपहर का भोजन किया जिसमें अमेरिका से लाया गया डबल चीजबर्गर और गोमांस शामिल थे।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने यह भी कहा कि जापान के साथ हमारी व्यापार वार्ताओं में उल्लेखनीय प्रगति हुई है, विशेषरूप से कृषि और गोमांस के क्षेत्र में।

माना जा रहा है कि अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि रोबर्ट लाइथिजर और उनके जापानी समकक्ष तोशिमित्सु मोतेगी के बीच वार्ताओं में अमेरिका ने जापानी बाजार में अपने देश के गोमांस, पोर्क और गेहूं उत्पादों की अधिक पहुंच की मांग रखी।

ऐसा माना जा रहा है कि जापान का जोर इस बात पर है कि वाहन समेत तमाम जापानी औद्योगिक उत्पादों पर अमेरिका का शुल्क कम किया जाए।

ट्रंप सुमो कुश्ती के एक टूर्नामेंट के फाइनल में मुख्य अतिथि होंगे और विजेता को ट्राफी सौंपेंगे।

रमजान में साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश,”जय श्री राम” न कहने पर युवक को पीटा !

इससे पहले रविवार को ट्रंप ने इस महीने की शुरुआत में उत्तर कोरिया द्वारा मिसाइल परीक्षण के बावजूद उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन में अपने ‘विश्वास’ को दोहराया। ट्रंप की यह अवस्थिति खुद उनके अपने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार और मेजबान देश जापान के रुख के बिल्कुल उलट है।

=>
LIVE TV