Wednesday , September 20 2017

कुदरत के दीवानों के लिए पहाड़ियों की गोद में बसा कौसानी स्वर्ग

कौसानी की वादियोंउत्तराखंड। घूमने के लिए हर कोई उस जगह को ज्यादा पंसद करते है जहां के पहाड़ों को चंचल हवा चूम रही हो, हर घटा हर नदी का बदन चूम रही हो। इसलिए ज्यादातर लोग घूमने के लिए हिल स्टेशन जाते है। वैसे तो भारत में हिल स्टेशनों की कमी नहीं हैं लेकिन रानीखेत के पास मौजूद कौसानी की वादियों की बात ही कुछ और है। यहां कहीं देवदार की घनी छाया है तो  कहीं बांज के पेड़ों के बीच सीढ़ीदार खेत और  छोटे-छोटे झरने इस जगह की खूबसूरती में और चार चांद लगा देते है।

कुदरत के दीवानों का पसंदीदा क्षेत्र रानीखेत एक बेहद खूबसूरत हिल स्टेशन है। उत्तराखंड की कुमाऊं की पहाड़ियों की गोद में बसा रानीखेत फिल्म निर्माताओं को भी बहुत पसन्द आता है। रानीखेत और उसके आस-पास की जगहों का अपना एक अलग ही महत्व है। रानीखेत के पास घूमने लायक जगहों में ही एक प्रसिद्ध जगह है कौसानी।

खूबसूरत कौसानी

कौसानी एक खूबसूरत पर्वतीय पर्यटक स्थल है। विशाल हिमालय के अलावा यहां से नंदाकोट, त्रिशूल और नंदा देवी पर्वत का भव्य नजारा देखने को मिलता है। यह पर्वतीय शहर चीड़ के घने पेड़ों के बीच एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है और यहां से सोमेश्वर, गरुड़ और बैजनाथ कत्यूरी की सुंदर घाटियों का अद्भुत नजारा देखने को मिलता है।

सुबह शाम का मनोरम दृश्य

प्रकृति की गोद में यहां के हसीन नजारों को कैद कर सकते हैं। हिमालय राज के दर्शन तो ऐसे होते हैं जैसे हाथ बढ़ा कर उन्हें लपका जा सकता है। सुबह-सुबह हिमालय से उगता सूरज और शाम को सूरज छिपने पर हिमालय पर पडऩे वाली पीली किरणों से मन को अपार सुकून मिलता है।

अनाशक्ति आश्रम

कौसानी एक प्रसिद्ध पर्यटक स्थल है और हर साल यहां पूरे विश्व से सैलानी आते हैं। कौसानी, खूबसूरत पहाड़ी नजारों के अलावा आश्रमों, मंदिरों और चाय के बागानों के लिए भी जाना जाता है। अनाशक्ति आश्रम यहां का एक प्रसिद्ध आश्रम है, जहां महात्मा गांधी कुछ दिन रुके थे। अब यह एक अध्ययन और शोध केंद्र के रूप में विकसित हो गया है।

=>
LIVE TV