किम जोंग की अमेरिका को नसीहत- पहले तेवर बदलें, फिर होगी परमाणु पर बात !  

नॉर्थ कोरिया ने शुक्रवार को कहा कि वह अमेरिका से परमाणु मुद्दे पर तब तक बातचीत नहीं करेगा, जब तक ट्रंप प्रशासन निरस्त्रीकरण के लिए एकतरफा मांगों पर अपनी स्थिति साफ नहीं करता. नॉर्थ कोरिया के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने आधिकारिक कोरियन सेंट्रल न्यूज (KCNA) एजेंसी को यह जानकारी दी.

उन्होंने कथित तौर पर अमेरिका पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के बीच हनोई में फरवरी में हुए परमाणु शिखर सम्मेलन को खराब करने का आरोप लगाया.

उन्होंने कहा, ”अमेरिका हमें अपने स्टैंड से एक इंच भी नहीं हिला पाएगा. जब तक अमेरिका कैलकुलेशन का कोई नया तरीका लेकर नहीं आता, नॉर्थ-कोरिया और यूएस के बीच कोई बातचीत नहीं होगी और परमाणु मुद्दे को सुलझाने की उम्मीद और धुंधली हो जाएगी.”

अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि उत्तर कोरिया आंशिक रूप से निरस्त्रीकरण कदमों के बदले प्रतिबंधों में ज्यादा छूट मांग रहा था, इसलिए बैठक फेल हो गई. किम ने अमेरिका से इस साल के आखिर तक बातचीत के लिए स्वीकार्य शर्तों के साथ आने को कहा है.

 

IRCTC का स्पेशल ऑफर ! लेह-लद्दाख में खूबसूरत पल बिताने का सुनहरा मौका …

 

नॉर्थ कोरिया का यह बयान अमेरिका के पूर्व उपराष्ट्रपति जो बिडेन की उस टिप्पणी के बाद आया है, जिसमें उन्होंने किम जोंग को तानाशाह कहा था. इसके जवाब में KCNA ने जो बिडेन को कम अक्ल वाला शख्स बताते हुए कहा कि उनमें इंसान लायक भी कोई योग्यता नहीं है.

पिछले हफ्ते शनिवार को फिलाडेल्फिया में कैंपेन के दौरान बिडेन ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर भी तंज कसा था. उन्होंने ट्रंप पर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और किम जैसे दुश्मनों से गले मिलने का आरोप लगाया था.

गौरतलब है कि 2009 से 2017 तक अमेरिका के उपराष्ट्रपति रहे बिडेन डेमोक्रेट उम्मीदवार के दौर पर 2020 में होने का अगला राष्ट्रपति चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं.

 

=>
LIVE TV