कानपुर IIT में विवादित कविता पढ़े जाने को लेकर आईआईटी डायरेक्टर ने दी सफाई

REPORT:-VIKAS SOLOMON/KANPUR

कानपुर आईआटी में नागरिक संशोधन बिल के विरोध में पाकिस्तानी धार्मिक उन्माद वाली कविता पढ़ने पर  दुनिया भर में हो रही बदनामी के बाद आईआईटी डायरेक्टर सफाई देने आये सामने बोले मामले की जांच हो रही की उसमे कौन से , नारे लगाए गए  जांच रिपोर्ट आने के बाद दोषियों पर कड़ी कार्यवाही होगी.

कानपुर आईआईटी संस्थान में इससे पहले देश के किसी भी मामले में आईआईटी छात्रों ने आईआईटी के अंदर कभी कोई प्रोटेस्ट नहीं किया इस बार हुए प्रोटेस्ट से पूरी दुनिया में आईआईटी की बदनामी हो रही है क्योकि आईआईटी प्रशासन ने खुद इसकी अनुमति देने से इंकार कर दिया था पाकिस्तानी कविता को लेकर हुई शिकायत के बाद अब आईआईटी गंभीरता से इसकी जांच करने का दावा कर  रहा है.

कानपूर आईआईटी के छात्रों की प्रतिभा का डंका पूरी दुनिया में बजता है लेकिन नागरिक सुरक्षा बिल की तपिस ने इसके परिवेश को आजकल ऐसा गरमा दिया है की यहाँ बिल के  विरोध में हुए एक प्रदर्शन में पाकिस्तानी लिंक तक जोड़ा जा रहा है  17 दिसम्बर को आईआईटी स्टेडियम  में कुछ छात्रों ने आईआईटी प्रशासन के अनुमति न देने के वावजूद बिल के विरोध में प्रदर्शन तो किया ही ऊपर  से प्रदर्शन में पाकिस्तानी कवी  की धार्मिक उन्माद वाली  कविता पढ़ कर उनको अन्य धर्मो के खिलाफ उकसाया भी.

IIT कानपुर

जिसको लेकर आईआईटी के ही छात्रों ने  मौके पर् विरोध कर दिया था अब इन छात्रों ने कविता के विडिओ के साथ आईआईटी प्रशासन से शिकायत की है  आईआईटी के फैकेल्टी डाक्टर वासी शर्मा ने इस वीडियो के साथ इसकी लिखित शिकायत डायरेक्टर से की है  इसके साथ साथ ये विडिओ पूरी दुनिया के आईआईटियन में वायरल हो रहा है जिससे आईआईटी की किरकिरी हो रही है  आईआईटी  प्रशासन शुरू से इस  शिकायत को  चुप्पी साध रहा था.

आज कई दिनों के बाद आईआईटी  डायरेक्टर  इस मामले में सफाई देते हुए बोले की मामले की जांच हो रही है की उस  प्रोटेस्ट में आखिर कौन से नारे लगे की नहीं   उनसे जब पूछा गया की आखिर आईआईटी केअंदर ही  बगैर अनुमति के प्रोटेस्ट हो गया उसमे पाकिस्तानी कविता  से धार्मिक उन्माद भी फैलाया गया तो आपने इसकी पुलिस से शिकायत क्यों नहीं की.

इस परदायरेकटर सफाई देने लगे की ये बात आप पुलिस से पूछिए उन्होंने सफाई दी की आईआईटी प्रशासन ने इसकी जांच  के लिए डिप्टी डायरेक्टर  मणीन्द्र अग्रवाल के नेतृत्व में एक टीम नियुक की है. जो पुरे मामले की जांच कर रही है  इसमें  लगे की नहीं  जांच रिपोर्ट आने के बाद दोषियों पर कड़ी कार्यवाही की जायेगी.

लखीमपुर पुलिस के हत्थे चढ़ा शातिर चोर, CCTV कैमरे को मात देने में है माहिर

आईआईटी कानपूर में इससे पहले देश के किसी भी मुद्दे पर छात्रों ने  सरकार के खिलाफ या किसी अन्य मुद्दे पर विरोध प्रदर्शन नहीं किया   इस बार छात्रों ने  आईआईटी प्रशासन के निर्देशों की अवलेहना करके विरोध किया. आईआईटी में सात  हजार से ज्यादा छात्र और फैकेल्टी  प्रोफ़ेसर  है.  हालाकि  प्रदर्शन में सिर्फ लगभग दो सौ छात्र ही शामिल हुए थे लेकिन प्रदर्शन करने वालो की धार्मिक उन्माद वाली पाकिस्तानी कविता के विडिओ ने दुनिया भर  के आइआइटीयनो में हड़कंप मचा दिया है.

=>
LIVE TV