आखिर वो क्या वजह है कि सैफ अली खान लौटाना चाहते हैं पद्मश्री ?…

सैफ अली खान अपने काम से इतर मीडिया से एक तरह की दूरी बनाकर रखते हैं. पैपराज़ी ट्रेंड में एक्ट्रेस और सैफ की पत्नी करीना कपूर के जिम लुक से लेकर उनके बेटे तैमूर की हर हरकत कैमरे और सोशल मीडिया में होती है. लेकिन फिलहाल सैफ अली खान चर्चा में हैं.

अपने एक बयान को लेकर. उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा कि वो भारत सरकार द्वारा सम्मान में दिए जाने वाला पद्मश्री अवॉर्ड नहीं लेना चाहते थे. और ले लेने के बाद उसे वापस करने का ख्याल भी उनके मन में आया था.

लेकिन सवाल ये है कि देश के चौथे सबसे बड़े नागरिक सम्मान को कोई क्यों वापस करना चाहेगा? कंफ्यूज़ होने से पहले जान लीजिए कि सैफ अली खान ऐसा किसी के प्रति विरोध जताने के लिए नहीं कर रहे थे. माने वो कथित अवॉर्ड वापसी गैंग के हिस्सा नहीं थे.

आम तौर पर सैफ फिल्मों के प्रमोशन के अलावा कम ही इंटरव्यूज़ वगैरह देते देखे जाते हैं. लेकिन जब मामला पर्सनल हो जाता है, तो करना पड़ता है. जैसे हाल ही में सैफ सलमान खान के भाई अरबाज़ खान के चैट शो पिंच में नज़र आए.

यहां उन्होंने अपने करियर, विवादों, बच्चे से लेकर पद्म पुरस्कार तक के बारे में बात किया. लेकिन सबसे ज़्यादा खींचा उनकी पद्मश्री वापस करने वाली बात ने. सैफ सोशल मीडिया पर नहीं हैं, इसलिए अरबाज़ उनके बारे में सोशल मीडिया पर लिखी गईं चीज़ें उन्हें पढ़वा रहे थे. एक पोस्ट में सैफ के बारे में लिखा गया-

‘दो कौड़ी का ठग जिसने पद्मश्री अवॉर्ड खरीदा.’

वर्ल्ड रिकॉर्ड : माउंट एवरेस्ट पर 23 बार चढ़ इस शख्स ने बनाया अनोखा कीर्तिमान !…

इसका जवाब देते हुए सैफ अली खान ने बताया-

”दो कौड़ी के ठग तो मैं नहीं हूं. और जहां तक पद्मश्री अवॉर्ड खरीदने की बात है, तो मुझे लगता है कि ये संभव ही नहीं है. भारत सरकार को घूस देना मेरे हाथ से बाहर की चीज़ है. आपको इस बारे में सीनियर लोगों से पूछना चाहिए.”

 

अब जब पद्मश्री की बात आ ही गई थी, तो इस मसले पर और बात होने लगी. इस बातचीत में सैफ अली खान ने बताया-

”मैं उस अवॉर्ड को लेना ही नहीं करना चाहता था. इंडस्ट्री में कई सारे ऐसे लोग हैं, जो मुझसे ज़्यादा इस अवॉर्ड के हकदार हैं. कई सीनियर एक्टर्स हैं, जिन्हें ये सम्मान नहीं मिला है. ये मेरे लिए बहुत शर्मनाक था. इसलिए मैं इसे वापस करना चाहता था.

लेकिन मेरे पापा ने मुझे बताया कि उन्हें नहीं लगता कि मैं इस स्थिति में हूं कि भारत सरकार को ना कह सकूं. मैंने कहा ठीक है और खुशी-खुशी अवॉर्ड ले लिया.

मैं उम्मीद करता हूं कि आने वाले समय में लोग जब पीछे मुड़कर देखें, तो उन्हें ये अहसास हो कि जो काम इस आदमी ने किया है, उसके लिए इसे सम्मान मिलना चाहिए.”

 

सैफ अली खान को कला के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए साल 2010 में पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. आम तौर पर हम फिल्मी अवॉर्ड फंक्शंस पर देखते हैं कि कोई एक्टर अपना अवॉर्ड किसी और को दे देता है. लेकिन खुद को पद्म पुरस्कार के लायक न बताने वाले सैफ शायद पहले कलाकार ही हैं.

अरबाज़ खान और सैफ अली खान आज तक किसी फिल्म में साथ नज़र नहीं आए. हालांकि 2008 में आई हंसल मेहता की फिल्म ‘वुडस्टॉक विला’ में अरबाज़ खान एक ज़रूरी किरदार निभा रहे थे और सैफ ने कैमियो किया था. इसे साथ काम करना नहीं माना जाएगा. इसके अलावा सैफ अरबाज़ खान के प्रोडक्शन में बनी फिल्म ‘डॉली की डोली’ में गेस्ट अपीयरेंस में नज़र आए थे.

आने वाले दिनों में सैफ अली खान नेटफ्लिक्स सीरीज़ ‘सेक्रेड गेम्स’ के दूसरे सीज़न में नज़र आने वाले हैं. इसके अलावा वो अजय देवगन के साथ फिल्म ‘तानाजी’,  हॉरर कॉमेडी ‘भूत पुलिस’ और पीरियड ड्रामा ‘हंटर’ जैसी फिल्मों में भी काम कर रहे हैं. वहीं अरबाज़ खान सलमान खान के साथ ‘दबंग’ की तीसरी किस्त बनाने में व्यस्त हैं. अरबाज़ इस फिल्म को प्रोड्यूस कर रहे हैं.

 

=>
LIVE TV