अयोध्या में दो मंजिले मकान में अचानक लगी आग, जांच में जुटी पुलिस

REPORT:- महेंद्र त्रिपाठी/AYODHYA

अयोध्या शहर मुख्यालय स्थित फतेहगंज खीर वाली गली के एक दो मंजिले मकान में रविवार को अचानक आग लग गई। इस मकान में  धागे और बटन का गोदाम भी था। रिहायशी इलाके में आग लगने के बाद अफरा-तफरी मच गई  हालांकि बगल के किसी और मकान में आग नहीं लगी जिससे लोगों ने राहत की सांस ली लेकिन रिहायशी इलाके में  चल रहे गोदाम में मानक के अनुरूप फायर इक्विपमेंट थे कि नहीं थे इसकी जांच की बात कही जा रही है।

मामले की खबर पर फायर दस्ता मौके पर पहुंचा और आग को काबू पाने की मशक्कत शुरू की। हालांकि तंग गलियों वाले इस इलाके में बचाव एवं राहत कार्य में बाधा आई। आग की खबर पर आसपास के निवासियों में हलचल मच गई। थोड़ी ही देर में आग ने विकराल रूप धारण कर लिया और तेज लपटें निकलने लगी। आग ने पूरे मकान को अपने आगोश में ले लिया। आग की विभिषिका को रोकने के लिए मौके पर दो और फायर टेंडर को बुलाना पड़ा।

भीषण आग

स्थानीय लोगों की मदद से फायर दस्ते ने किसी तरह आग पर काबू पाया। पता चला कि दो मंजिले मकान के बेसमेंट में मकान मालिक ने बटन और धागे का गोदाम बना रखा था। इनकी शहर के चौक रिकाबगंज रोड पर बटन स्टोर के नाम से दुकान है। गोदाम में ही रसोई गैस सिलेंडर रखे गए थे।जिसके चलते दो रसोई गैस सिलेंडर में धमाका भी हो गया।रिहायशी इलाके में ज्वलनशील बटन और धागा तो स्टोर कर लिया गया लेकिन मकान मालिक की ओर से मौके पर आग से बचाव के लिए कोई संयंत्र नहीं रखे गए और न ही कोई उपाय किया गया।

फिलहाल पुलिस और अग्निशमन विभाग ने आग पर काबू के बाद मामले की पड़ताल शुरू कर दी है।चौक रिकाबगंज मुख्य मार्ग पर शकील की खान बटन स्टोर के नाम से दुकान है। नगर कोतवाली क्षेत्र के ही फतेहगंज स्थित खीर वाली गली में शकील का दो मंजिला मकान है। जिसके बेसमेंट में उन्होंने बटन और धागे का गोदाम बना रखा था। इसी बेसमेंट में रसोई गैस सिलेंडर भी रखे हुए थे। रविवार को अचानक आग लगी और आग ने रसोई गैस सिलेंडर को अपनी चपेट में लिया तो दो रसोई गैस सिलेंडरों में धमाका हो गया और आग की विभीषिका तेज हो गई। देखते ही देखते आग ने पूरे दो मंजिले मकान को अपने आगोश में ले लिया। आग की तेज लपटें देख आसपास के निवासियों में हलचल मच गई और लोग अपने घरों से बाहर आ गए। मामले की खबर पुलिस और अग्निशमन विभाग को दी गई,तो अग्निशमन दस्ता फायर टेंडर के साथ मौके पर पहुंचा।

माघ मेले की रौनक को बर्बाद कर रहा प्रशासन, शराब पी कर ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मी

हालाकी इलाका तंग गलियों का होने के चलते फायर टेंडर आग की चपेट में आये मकान के नजदीक नहीं पहुंच सका और अग्निशमन कर्मियों को लंबी पाइप जोड़कर आग पर बचाव की कवायद शुरू करनी पड़ी। आग की विभीषिका को देखते हुए मौके पर दो और फायर टेंडर तथा अतिरिक्त अग्निशमन कर्मियों को बुलाया गया और सभी को आग पर काबू पाने के काम में लगाया गया। सुरक्षा के मद्देनजर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक और पुलिस के अधिकारी समेत भारी तादाद में पुलिस बल को मौके पर बुला लिया गया तथा आसपास आवागमन रोक दिया गया।

कड़ी मशक्कत कर अग्निशमन विभाग के कर्मियों ने तीन फायर टेंडर और स्थानीय लोगों की मदद से आग पर काबू पाया हादसे में लाखों के नुकसान की आशंका जताई गई है गनीमत रही कि इस हादसे में कोई चपेट में नहीं आया।इस बाबत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी ने बताया कि आग लगने की सूचना पर तीन फायर टेंडर को काबू पाने में लगाया गया। रिहायशी बस्ती में किस तरह बटन और धागे का गोदाम बना लिया गया और आग से बचाव के कोई उपाय भी नहीं किए गए।इसकी जांच कराई जाएगी।

=>
LIVE TV