अमेरिकी सांसदों ने पाकिस्तान को लड़ाकू विमान बेचे जाने पर जताई चिंता

f16-fighting-falcon-air-fighter-wallpaper-1_56db28e574feaएजेंसी/ वॉशिंगटन : अमेरिका द्वारा पाकिस्तान को एफ-16 लड़ाकू विमान बेचे जाने के ओबामा सरकार के फैसले पर शीर्ष अमेरिकी सांसदों ने चिता जताया है। उनका कहना है कि इन विमानों का इस्तेमाल आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में नहीं बल्कि भारत के खिलाफ किया जा सकता है। इस मामले में उन्होने मांग की है कि ओबामा प्रशासन इसकी समीक्षा करे। सांसद मैट सैल्मन ने कल कांग्रेस में सुनवाई के दौरान कहा कि मेरे साथ-साथ कांग्रेस के कई सदस्यों ने इस फैसले और इस बिक्री के समय पर गंभीर सवाल उठाए हैं।

इस मामले में पाकिस्तान का कहना है कि वो इन लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल आतंकवाद के खिलाफ करेगा। सैल्मन के साथ-साथ कई सांसदो ने जहां इसका विरोध किया तो वहीं अफगानिस्तान और पाकिस्तान के विशेष अमेरिकी प्रतिनिधि रिचर्ड ओल्सन ने ओबामा प्रशासन का प्रतिनिधित्व किया।

अमेरिकी सांसद ब्रैड शर्मन ने कहा कि में यह सोचने की जरूरत है कि पाकिस्तान को मुहैया कराई गई सैन्य सहायता और जो एफ-16 लड़ाकू विमान हैं वे कम खर्चीले हैं या नहीं। क्या यह आतंकवादियों के खिलाफ पाकिस्तानी वायु सेना के लिए सबसे प्रभावी तरीके के साथ भारत एवं पाकिस्तान के बीच शक्ति संतुलन के लिए बहुत कम विध्वंसक हथियार प्रणाली होगी।

बता दें कि अमेरिकी सीनेटॉ ने पाकिस्तान को बेचे जाने वाले ओबामा प्रशासन के इस फैसले पर हाल ही में रोक लगाई है। पाकिस्तान को 70 करोड़ डॉलर की रकम पर आठ एफ-16 लड़ाकू विमान बेचने की अमेरिका की योजना है। आगे उन्होने कहा कि पाकिस्तान को 25 अरब डॉलर की राशि मदद स्वरुप देने के बाद भी आतंकी बेखौफ अपनी गतिविधियों को अंजाम दे रहे है।

=>
LIVE TV