अमेरिका सिखाएगा सरकारी स्कूलों के श्रेष्ठ शिक्षकों को आधुनिक शिक्षा

phpThumb_generated_thumbnail (1)एजेंसी/सरकारी स्कूलों में पढ़ाने वाले श्रेष्ठ शिक्षकों को शिक्षा की आधुनिक तकनीक तथा शिक्षण पद्धति का प्रशिक्षण लेने के लिए अमेरिका भेजा जाएगा। यूनाइटेड स्टेट इंडिया एजुकेशन फाउण्डेशन (यूएसआईईएफ) की ओर से यह पहल की जा रही है।

इस प्रोग्राम के लिए सम्बंधित शिक्षक 1 अप्रेल तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा परिषद (रमसा) के अतिरिक्त आयुक्त जस्साराम चौधरी की ओर से जारी निर्देशसनुसार  यूएसआईईएफ द्वारा सरकारी स्कूलों में कक्षा 6 से 12वीं तक को पढ़ाने वाले अंग्रेजी, सामाजिक विज्ञान, गणित, विज्ञान व विशेष शिक्षा के योग्य अध्यापकों में से ‘इंटरनेशनल लीडर्स इन एजुकेशन प्रोग्रामÓ (आईएलईपी) के लिए चयन किया जाएगा।

चयनित शिक्षकों को यूएस यूनिवर्सिटी द्वारा फैलोशिप के अधीन सेमिनार, नई शिक्षण विधियां, पाठ्यक्रम निर्माण आदि का प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके लिए सभी प्रकार की सुविधाएं यूएस यूनिवर्सिटी द्वारा उपलब्ध कराई जाएंगी।

इस प्रोग्राम के लिए आवेदन करने वाले शिक्षक फुल टाइम टीचर्स होने तथा सम्बंधित विषय में विद्यार्थियों को पांच साल या इससे अधिक समय तक पढ़ाने का अनुभव होना चाहिए।

ऐसे होगा चयन

इस प्रोग्राम के लिए आवेदन करने वाले शिक्षकों के आवेदन की एक पैनल जांच करेगा। इसके बाद उनका टेस्ट होगा, जिसमें 60 प्रतिशत अंक प्राप्त करना जरूरी है। इसके बाद साक्षात्कार होगा, इसमें चयन होने के बाद शिक्षक को प्रशिक्षण के लिए अमेरिका भेजा जाएगा।

करीब चार माह देंगे प्रशिक्षण

सूत्रों की मानें तो चयनित होने वाले शिक्षकों को जनवरी से मई 2017 के बीच में करीब चार माह प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके लिए शिक्षकों को जे-1 वीजा उपलब्ध कराया जाएगा।

साथ ही अमेरिका के वाशिंगटन डीसी पहुंचने के बाद यहां से विभिन्न इंस्टीट्यूट आदि जगह ले जाकर आधुनिक शिक्षा प्रणाली, शिक्षण विधियां आदि के बारे में प्रशिक्षित किया जाएगा। प्रशिक्षाणार्थी शिक्षकों को वहां की संस्कृति, इतिहास, शिक्षण स्थिति आदि के बारे में भी जानकारी दी जाएगी।
इन राज्यों से मांगा आवेदन

इंटनरेशनल लीडर्स इन एजुकेशन प्रोग्राम के लिए देश में चंडीगढ़, दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, पंजाब, राजस्थान, उत्तराखण्ड, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, गोवा, गुजरात, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, दमन एण्ड दिव तथा दादर  नागर हवेली से आवेदन मांगे गए हंै।

 लखनपाल सिंह एडीपीसी रमसा भरतपुर ने बताया कि अमेरिका के इस संगठन के सहयोग से शिक्षकों में शिक्षण विधियों में गुणवत्ता पैदा करने के लिए कार्यक्रम विकसित किया गया है। जिसमें चुने हुए शिक्षकों को अमेरिका भेजा जाएगा। इसके लिए सम्बंधित शिक्षक 1 अप्रेल तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

=>
LIVE TV