अमेरिका के पूर्व एनएसए का सजा में रियायत बरतने का आग्रह

वाशिंगटन| अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार माइकल फ्लिन ने संघीय जज से गुहार लगाई है कि उन्हें सजा सुनाए जाने से रियायत बरती जाए। फ्लिन ने कहा कि विशेष अभियोजक रॉबर्ट मुलर की जांच में उन्होंने पूरा सहयोग किया और ।

फ्लिन की बचाव टीम ने मंगलवार को एक मेमो में लिखा, “बल्कि उन पर कोई भी अभियोग लगाए जाने से पहले ही और जांच में सहयोग के लिए विशेष अभियोजक कार्यालय द्वारा संपर्क साधे जाने के तत्काल बाद ही उन्होंने पूरा सहयोग किया।”

सीएनएन के मुताबिक, पूर्व अधिकारी ने 200 घंटे की सामुदायिक सेवा करने की भी पेशकश की।

अमेरिकी डिस्ट्रिक्ट कोर्ट के जज एमे सुलिवन 18 दिसंबर को फ्लिन को सजा सुना सकते हैं।

पिछले सप्ताह मुलर ने अदालत को बताया था कि फ्लिन ने जांच में सहयोग दिया है और उन्हें सजा नहीं दी जानी चाहिए।

कोर्ट में दर्ज दस्तावेजों के मुताबिक, फ्लिन 19 बार मुलर की टीम और न्याय विभाग के अन्य अधिकारियों से मिले और व्यापक सहयोग का सुझाव दिया।

सर्दियों में रुखें बालों की ऐसे करें केयर, कभी नहीं होंगे खराब

मुलर जांच में कानूनी मुकदमेबाजी का सामना कर रहे फ्लिन उच्चतम रैंक के अधिकारी हैं।

उन्हें तत्कालीन अमेरिका के राजदूत के साथ संपर्को को लेकर एफबीआई से झूठ बोलने के आरोप में दिसंबर 2017 को दोषी ठहराया गया था।

फ्लिन ने शुरुआत में इन आरोपों से इनकार किया था लेकिन बाद में कहा कि उन्होंने अमेरिका में सत्ता परिवर्तन के दौरान प्रतिबंधों को लेकर और संयुक्त राष्ट्र के एक प्रस्ताव पर रूस के राजदूत से चर्चा की थी।

=>
LIVE TV