अजीज- “मदरसों, मस्जिदों के नीचे चल रही टेरर एक्टिविटीज”

pakistan-madarsa_14572499एजेंसी/वॉशिंगटन.पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने देश में चल रहे टेरर नेटवर्क को लेकर चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। उन्होंने कहा है कि अफगान-पाक बॉर्डर और कबीलाई इलाकों में खासकर नॉर्थ वजीरिस्तान के आसपास मौजूद मदरसे ‘टेरर एक्टिविटीज हब’ बन गए हैं। हालांकि, अजीज ने इसका ठीकरा अफगानी रिफ्यूजीज पर फोड़ा है। उनके मुताबिक, 9/11 के बाद यूएस द्वारा तालिबान को सत्ता से बेदखल किए जाने के बाद रिफ्यूजी पाकिस्तान की सरहद में घुस आए। अजीज ने कहा, मदरसों में चल रहा टेरर ट्रेनिंग कैम्प…

 

– अजीज के मुताबिक, इन मदरसों में कल्पना से परे टेरर इन्फ्रास्ट्रक्चर है। यहां बम बनाने की फैक्ट्रीज और टेरर ट्रेनिंग सेंटर्स से लेकर सुसाइड बॉम्बर्स का दल तैयार किया जा रहा है।

– उन्होंने कहा, “और यह सबकुछ मस्जिद के नीचे बहुमंजिला बेसमेंट में अंजाम दिया जा रहा है।”
– “मुझे याद है, मैं एक बार मिरनशाह स्थित एक मस्जिद गया था। बाहर से कुछ नजर नहीं आया। पर अंदर 70 कमरों का तीन मंजिला बेसमेंट था।”
– “वहां 4-5 आईईडी (इम्प्रूवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस) फैक्ट्री, 4-5 सुसाइड बॉम्बर ट्रेनिंग सेंटर, वीआईपी रूम कम्युनिकेशन सिस्टम, कॉन्फ्रेंस रूम।”
– अजीज यहां सिक्स्थ यूएस-पाकिस्तान स्ट्रैटेजिक डायलॉग में शिरकत कर रहे थे।
– उन्होंने टेररिस्ट्स के खिलाफ पाकिस्तानी आर्मी द्वारा लिए गए एक्शन्स की डीटेल देते वक्त यह बात कही।

नॉर्थ वजीरिस्तान में सबसे ज्यादा

– पाक बॉर्डर से लगे कबीलाई इलाकों में सात एजेंसीज हैं। नॉर्थ वजीरिस्तान उनमें से एक है।
– अजीज ने एक अनुमान में बताया कि नॉर्थ वजीरिस्तान में ऐसी 30-40 मजिस्द हैं।
– बता दें कि नॉर्थ वजीरिस्तान में आतंकियों के सफाए के इरादे से जून 2014 में पाक आर्मी ने ‘जर्ब-ए-अज्ब’ ऑपरेशन शुरू किया था।
 
254 मदरसों पर हो चुकी है कार्रवाई
– हाल ही में पाकिस्तान ने देशभर में गैर पंजीकृत और धार्मिक उग्रवाद में शामिल 254 मदरसों को बंद कराया था।
– इसके तहत सिंध में 167, खैबर पख्तूनख्वा में 13, पंजाब में दो संदिग्ध मदरसे को बंद कराया गया।
– इसके अलावा सिंध के 72 गैर पंजीकृत मदरसों को भी बंद कराया गया था।
=>
LIVE TV