खट्टर सरकार का तुगलकी फरमान, सांसद के सम्मान अधिकारी करें ये काम

दिल्ली। एक तरफ दिल्ली में अरविंद केजरीवाल आईएएस अधिकारियों को सुरक्षा का वादा कर रहें हैं। वहीं दूसरी तरफ हरियाणा में खट्टर सरकार ने अधिकारीयों को लेकर नया आदेश जारी किया है। हरियाणा सरकार का अजब-गजब फैसले को लेकर चर्चा में है। खट्टर सरकार का नया आदेश वाकई में चौंकाने वाला है।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर

दरअसल राज्य सरकार का आदेश है कि जब भी कोई सांसद दौरे पर आए तो अधिकारी को खड़े होकर उनका स्वागत करना चाहिए।

बीजेपी सरकार के इस सर्कुलर की पुष्टि कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने भी की है।

यह भी पढ़ें : सीजफायर खत्म होते ही सेना ने लिया बदला, बांदीपुरा में दो आतंकी ढेर

सरकार द्वार जारी आदेश के मुताबिक जब भी कोई माननीय सांसद दौरे पर आएं तो अधिकारियों को उनका सम्मान करना चाहिए। इसके अलावा अगर सांसद अपॉइनमैंट लेकर आते हैं तो पहले से ही उनके लिए सभी तैयारियों को किया जाए।

बता दें कि अपने कार्यकाल के दौरान खट्टर सरकार के कई ऐसे फैसले सामने आते रहे हैं। जिससे विवाद खड़ा हुआ है।

अभी हाल ही में बीजेपी सरकार ने एक आदेश दिया था कि राज्य से आने वाले खिलाड़ियों को विज्ञापनों और प्रोफेशनल स्पोर्ट के जरिए कमाई होती है उसका तैंतीस फीसदी हरियाणा स्पोर्ट्स काउंसिल में जमा करवानी होगी।

यह भी पढ़ें : बीजेपी विधायक की फिसली जुबान, योगी के मंत्री की तुलना कुत्ते से की

गौरतलब है कि अपने कार्यकाल के दौरान हरियाणा की खट्टर सरकार अपने कई फैसलों के कारण विवादों में बनी रही है।

हाल ही में खुले में नमाज़ पढ़ने को लेकर चल रहे विवाद के बाद भी मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा था कि नमाज सार्वजनिक जगहों पर नहीं बल्कि मस्जिद या ईदगाह में ही पढ़ी जानी चाहिए। इसके अलावा भी खुले जिमों में संघ की शाखा लगने की परमिशन देने पर भी काफी बवाल मचा था।

देखें वीडीयोः

=>
LIVE TV