इंसानियत की सारी हदें हुई पार, हत्या के बाद दोस्त ने बोरे में भरी लाश

रिपोर्ट- विकास सोलेमन

कानपुर। कानपुर में चकेरी थाना अंतर्गत सनिगवां के गणेशपुर निवासी प्रॉपर्टी डीलर रणविजय की हत्या दो दिन पहले कर दी गई थी। जिस के शव को आज परिजनों ने पोस्टमार्टम के बाद राष्ट्रीय राज्यमार्ग फ्लाईओवर के ऊपर रखकर जाम लगा दिया। जाम लगते देख पुलिस के कुछ सिपाही और चौकी इंचार्ज जाम खुलवाने के लिए मौके पर पहुंचे लेकिन पहले से ही उग्र परिजनों ने चौकी इंचार्ज और सिपाहियों से अभद्रता की और ईटें व पत्थर लेकर दौड़ा लिया।

भड़के लोग

अपनी जान को बचाने के लिए पुलिस वहां से भाग खड़ी हुई जिसके बाद अधिकारियों को सूचना मिलने पर कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंची| अधिकारियों के समझाने बुझाने के बाद  शव को अंतिम संस्कार के लिए भेजा गया साथ ही जाम खुलवाकर यातायात सुचारु  किया गया।

चकेरी के सनिगवां इलाके के रहने वाले  रणविजय राजपूत प्रॉपर्टी डीलर का काम करते थे और ओमपुरवा में रहने वाले जगदम्बा के साथ पार्टनर थे| किसी बात को लेकर दोनों में विवाद हो गया। तीन दिन पहले रणविजय घर से रजिस्ट्री कराने की बात कह कर निकले थे तब से रणविजय  का कोई पता नही चला था| उसके बाद पत्नी रेखा ने चकेरी थाने में तहरीर देकर पति के साथ अनहोनी की आशंका जताई थी| लेकिन पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की|

रणविजय का शव जगदम्बा के घर के अंदर बोरे में मिला| दुर्गन्ध आने पर इलाकाई लोगो ने पुलिस को सूचना दी| मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्ज़े में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था|आज पोस्टमार्टम के बाद जब परिजन और ग्रामीण शव को अंतिम संस्कार के लिए ले जा रहे थे तभी नेशनल हाइवे पर कुछ ग्रामीणों ने शव को हाइवे पर रख कर जाम लगा दिया और दोषियों की गिरफ़्तारी की मांग करने लगे|

यह भी पढ़े: इंसानियत फिर हुई शर्मसार… नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में पुलिस

जाम की सूचना पर क्षेत्रीय चौकी इंचार्ज कुछ सिपाहियों को लेकर हाइवे पर जाम खुलवाने पहुंचे तो ग्रामीणों और महिलाओं ने उन्हें दौड़ा लिया | वहीं पुलिस का कहना है की जाम लगाया गया था उसे हटवा किया गया था और इस सम्बन्ध में जो नियमानुसार कार्यवाही की जानी है वो भी की जाएगी|

=>
LIVE TV