मुलायम के ‘घर’ में बनेगी दूसरी मेडिकल यूनिवर्सिटी

लखनऊ: मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट में से एक सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी का मामला क्लियर हो गया हैं। सैफई में उत्तर प्रदेश की दूसरी मेडिकल यूनिवर्सिटी बनने की मंजूरी राज्यपाल ने दे दी है।

सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी

सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी को मंजूरी

गवर्नर राम नाईक के पास यह विधेयक करीब एक साल से लंबित पड़ा था। शनिवार को हुई सीएम अखिलेश से मुलाकात के बाद राज्यपाल ने सोमवार को इस विधेयक को मंजूरी दे दी।

पहले गवर्नर राम नाइक को आपत्ति थी कि सीएम अखिलेश यादव को सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी का पदेन चांसलर कैसे बनाया जा सकता हैं, पर अब इसे उन्होंने मंजूरी दे दी।

सरकार ने सैफई में मेडिकल यूनिवर्सिटी बनाने इस विधेयक को विधानसभा से पारित कराकर गवर्नर के पास भेजा था। राज्यपाल के पास तब यह से यह विधेयक लटका था। दो बार राज्यपाल राम नाइक से मिलकर सपा चीफ मुलायम सिंह यादव यूनिवर्सिटी के सम्बन्ध में बात कर चुके थे।

पिछले एक साल से राज्यपाल की मंजूरी का इंतजार कर रही सरकार जल्दी ही एक्ट बनाकर इस यूनिवर्सिटी को शुरू कर देगी। यूनिवर्सिटी का एक्ट बनने के बाद सरकार इसकी अधिसूचना जारी करेगी। इसके बाद यहां कुलपति, प्रॉक्टर, रजिस्ट्रार जैसे पदों पर नियुक्ति की जा सकेगी। अब इसे दोबारा सदन से पारित कराने की जरूरत नहीं है।

यूनिवर्सिटी बनने के बाद सैफई विश्वविद्यालय अपनी डिग्री देगा। कुछ नए कोर्स अब यूनिवर्सिटी खुद से शुरू कर सकेगा। खुद ही डिग्री देगा और नए विभाग बनने के काम भी शुरू किये जायेंगे। अभी तक यह सैफई ग्रामीण आयुर्विज्ञान संस्थान के रूप में काम करता है।

 

=>
LIVE TV