Friday , March 24 2017 [dms]

यूपी में सख्त पहरे के बीच होंगे मतदान, आयोग ने भेजी 50 कंपनी केंद्रीय बल

विधानसभा चुनावलखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव सकुशल संपन्न कराने के लिए उप्र पुलिस को 50 कंपनी केंद्रीय बल उपलब्ध कराया गया है। केंद्रीय बल के जवानों के साथ उप्र पुलिस ने जनपदों में एमसीसी (माडल कोड ऑफ कंडक्ट) व एफएसटी (फ्लाइंग स्क्वायड टीम) बनाई है।

विधानसभा चुनाव

सुरक्षा बलों की इन टीमों ने प्रदेशभर में अवैध चुनावी बैनर, पोस्टर व होर्डिग हटाने के लिए सघन अभियान चलाया हुआ है।

उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों में चार जनवरी को विधानसभा चुनाव की घोषणा होने के तुरंत बाद उप्र पुलिस हरकत में आ गई थी। उप्र पुलिस ने प्रदेश में शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न कराने के लिए रोडमैप बनाया है।

प्रदेश के सभी 75 जिलों में जनसंख्या को ²ष्टि में रखकर अर्धसैनिक बलों के जवानों को संबंधित जिलों में भेजा गया है। संवेदनशील व अतिसंवेदनशील जनपदों में अतिरिक्त फोर्स दिया गया है।

सभी जनपदों के पुलिस प्रमुखों को अर्धसैनिक बल के जवानों व पुलिस जवानों की दो टीमें बनाने का फरमान जारी किया गया है। चुनाव आयोग के निर्देश पर सभी जनपदों में एमसीसी व एफएसटी गठित कर दी गई है। गृह विभाग के अफसरों के मुताबिक, सात जनवरी से टीमों ने अपना काम करना शुरू कर दिया है।

पहले दिन टीमों ने पांच लाख से अधिक बैनर, पोस्टर व होर्डिग हटाए। इसके अतिरिक्त रूट मार्च कर लोगों से विधान सभा चुनाव में शांति बनाए रखने की अपील की। इन टीमों के द्वारा बैनर, पोस्टर व होर्डिग मुक्त करने का अभियान अनवरत जारी है।

रोजाना ये टीमें अवैध तरीके से लगाई गई होर्डिग, वालराइटिंग मिटाने का काम कर रही हैं। एमसीसी व एफएसटी नामाकंन प्रक्रिया शुरू होने तक यह काम करती रहेगी। फिलहाल इन टीमों की सक्रियता का असर सड़कों पर दिखाई देने लगी है।

LIVE TV