गौशालाओं में गोवंश की मृत्यु के बाद आमरण अनशन पर बैठे गोंडा के सन्यासी साधु – संत

Report – Vishal Singh/Gonda

जहां एक तरफ यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गायों की सेवा और उनकी पूजा पाठ करके अपने दिन की शुरुआत करते हैं तो वहीं दूसरी तरफ यूपी के गोंडा के में बने गौशाला में भारी अनियमितता से लगातार हो रही गोवंश की मृत्यु के बाद सन्यासी साधु – संत आमरण अनशन पर बैठ गए हैं .

गोंडा के मुजेहना विकास खण्ड के रुद्रगढ़ नौसी में बने गौशाला में अब तक 100 से अधिक गायों की मृत गौशाला में फैली अनियमितताओं के कारण हो चुकी है .

गायों की मौत

जिसकी शिकायत जिला प्रशासन से करने के बावजूद भी कोई कार्यवाही न होने के कारण संत महात्मा आमरण अनशन पर बैठने को मजबूर हैं . आमरण अनशन पर बैठे अन्य समर्थकों ने जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और गौशाला में गौ हत्या बंद करवाने की मांग उठाई।

मुजेहना ब्लॉक परिसर में खंड विकास अधिकारी कार्यालय के सामने सीता भवन अयोध्या के महान विश्वरूप ब्रह्मचारी ने गौशाला में फैली अनिमियता और गौशाला में गोवंश की मृत्यु के लिए जिम्मेदारों के खिलाफ जिला प्रशासन से लगातार शिकायत की थी.

लेकिन जिला प्रशासन की तरफ से उचित कार्यवाही न होने के कारण आज वह अपने समर्थकों साथ 4 सूत्री मांग को लेकर आमरण अनशन पर बैठने को मजबूर हैं।

स्वामी ब्रम्ह्चारी का कहना है कि मांग पूरी होने तक आमरण अनशन जारी रहेगा चाहे जान ही क्यों न चली जाए.

बंगाल में हिंसा की आग अभी ठंडी भी नहीं हुई थी कि , एक और तृणमूल कार्यकर्ता की हत्या

गौशाला में गोवंश की मृत्यु पर संबंधित के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाए . गौशाला में जानवरों को रहने खाने व पानी पीने के लिए उचित व्यवस्था की जाए .

गौशाला के निर्माण में हुई अनियमितताओं जांच कराकर संबंधित के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाए और गौ आश्रय में परामर्श के लिए क्षेत्रीय परामर्शदाता समिति का गठन भी किया जाए।

=>
LIVE TV