अखिलेश यादव के इस ड्रीम प्रोजेक्ट को अब पूरा करेगी योगी सरकार

लखनऊ। योगी सरकार ने पूर्व समाजवादी सरकार के ड्रीम प्रोजेक्टों में शामिल स्पोर्ट कॉलेज लखनऊ के साइकिल ट्रैक के अधूरे निर्माण कार्य को पूरा करने का फैसला किया है।

साइकिल ट्रैक

प्रदेश का यह पहला इकलौता बैलो ड्रम है, जहां पर साइकिल रेसिंग का प्रशिक्षण दिया जाएगा। साथ ही राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा सकेगा। प्रदेश में अभी तक एक भी साइकिल रेसिंग का ट्रैक नहीं है और न ही प्रशिक्षण सेंटर है।

केंद्र सरकार ‘खेला इंडिया’ गेम का जहां आयोजन कर खेलों का बढ़ावा दे रही है। जिसकी मॉनिटरिंग खुद पीएम नरेंद्र मोदी कर रहे हैं। वहीं यूपी सरकार भी खेलों को बढ़ावा देने के लिए सूबे में निर्माणाधीन परियोजनाओं को पूरा करने के लिए काम शुरू कर दिया है।

गुरू गोविंद सिंह स्पोर्ट कॉलेज, लखनऊ में निर्माणाधीन साइकिल ट्रैक की जांच के बाद यूपी सरकार ने इस परियोजना को पूरा कराने का फैसला किया है।

600 करोड़ की इस परियोजना की शुरुआत पूर्व की अखिलेश यादव की सपा सरकार में की गई थी, जो यूपी की पहली साइकिल रेसिंग के ट्रैक निर्माण की परियोजना थी। जिसका निर्माण कार्य राजकीय निर्माण निगम कर रही है।

लेकिन योगी सरकार बनने के बाद इसका धन आंवटन रोक दिया गया था। लेकिन जब पीएम नरेंद्र मोदी ने खेलों को बढ़ावा देने के लिए जोर दिया तो प्रदेश सरकार ने इस प्रोजेक्ट को पूरा करने का आदेश जारी कर दिया।

प्रदेश के खेल मंत्री चेतन चौहान का कहना है विधानसभा चुनाव के चलते परियोजना रुकी थी, अब पूरी की जाएगी। चेतन चौहान ने कह कि स्पोर्ट कॉलेज लखनऊ का यह पहला और इकलौता साइकिल ट्रैक होगा, जहां साइकिल रेसिंग का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

जानकारी के मुताबिक, ट्रैक अंतरराष्ट्रीय स्तर के रेसिंग प्रतियोगताओं के मानक को पूरा करने वाला होगा। जहां पर स्पोर्ट कॉलेज के खिलाड़ियों को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के प्रशिक्षण मिलने के साथ ही बड़ी प्रतियोगिताओं का आयोजन भी संभव होगा।

जिससे साइकिल रेसिंग के उन सैकड़ों खिलाड़ियों को लाभ मिलेगा, जो प्रदेश के बाहर महंगे खर्च पर साइकिल रेसिंग का प्रशिक्षण ले रहे हैं। साथ ही यूपी को नेशनल और इंटरनेशनल खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन कराने का गौरव भी मिलेगा।

साभार: न्यूज 18

LIVE TV