Sunday , August 19 2018

महिला का शातिर दिमाग, सोशल मीडिया को बना दिया वसूली का प्लेटफार्म

रिपोर्ट- सैय्यद अबू तलहा

लखनऊ। गाजीपुर थाना में एक व्यपारी द्वारा मुकदमा दर्ज कराया गया था कि उससे एक महिला और उसके कुछ साथियों द्वारा उसको ब्लैकमेल कर पैसा वसूला जा रहा है। जिसके बाद गाजीपुर पुलिस मुकदमा दर्ज कर जांच में जुट गई थी। मंगलवार को गाजीपुर इंस्पेक्टर सुजीत रॉय और भूतनाथ चौकी इंचार्ज ने महिला और उसके साथियों को वसूली करने के दौरान गिरफ्तार किया है।

 

पुलिस

एसपी टीजी हरेन्द्र कुमार ने बताया कि पकड़े गए आरोपी डिम्पल सिंह पत्नी संजीव सिंह, नीरज कुमार पुत्र विनोद कुमार और आशुतोष कुमार सिन्हा बिहार निवासी जो इंदिरानगर में किराए पर रहते थे। वहीं बताया कि महिला द्वारा फेसबुक के जरिये पहले व्यपरियों से दोस्ती करती थी और फिर उनके साथ सम्बन्ध बनाकर उसकी फोटो खींच कर अपने भाइयों के साथ मिलकर ब्लैकमेल कर उससे पैसे ऐंठती थी। जिसमें गाजीपुर पुलिस स्टेशन में एक व्यपारी ने मुकदमा दर्ज कराया वहीं पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

यह भी पढ़े: राजभर ने दिया सभी दलों को निमंत्रण, नहीं आने पर करेंगे इलाज

उन्होंने बताया कि व्यपारी को धमका कर आरोपियों द्वारा 30हजार रुपये ऐंठे जा चुके थे और पैसों की मांग करने पर उसके द्वारा मुकदमा दर्ज कराया गया था। जिसमें आरोपियों को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई की जा रही है वहीं पकड़े गए आरोपी 10वीं पास बताए जा रहे हैं और इनका कोई आपराधिक इतिहास नहीं है ऐसा पुलिस द्वारा बताया गया है।

यह भी पढ़े: पाक की ‘नापाक’ चाल का हुआ खुलासा, जेलों में कैद आतंकियों को कश्मीर भेजने की कोशिश

वहीं आरोपी महिला ने बताया कि उसको फर्जी इस मुकदमे में फंसाया गया है और व्यपारी अमित अग्रवाल ने उसके बड़े भाई को 25हजार रुपये कर्जा दिया था। उसी में उसको जबरन दूसरे केस का रूप दिया गया है। जिसमें पुलिस ने उसको गिरफ्तार किया है। वहीं उसने बताया की अमित अग्रवाल ने अपनी दुश्मनी को निकालने के लिए पुलिस से सांठ गांठ की है जिसके बाद उसको और उसके भाइयों को गिरफ्तार कराया है।

=>
LIVE TV