Monday , July 22 2019
Breaking News

स्मार्ट सिटी बनाने के दावों की खुली पोल, जिले में चरों तरफ फैली गंदगी

राहुल कटियार

कानपुर। शहर को स्मार्ट सिटी बनाने के दावों की पोल सफाई व्यवस्था ने खोल दी। जगह-जगह फैली गंदगी, कूड़े से पटे कूड़ाघर और चोक नालियां खुद कागजों में चल रहे सफाई अभियान का सच बता रही है। एनजीटी के आदेश के बाद भी नगर निगम कागजों में ही शहर को दुरुस्त करने में जुटा है।

स्मार्ट सिटी मिशन के तहत शहर को कूड़ा रहित बनाने के लिए करोड़ों के प्रोजेक्ट भी शुरू हो गए है, लेकिन कूड़ा सड़क पर ही फैला पड़ा है। हाल ही में एनजीटी के आदेश पर सेवानिवृत्त जज अरुण टंडन की अगुआई में आई में टीम ने खुद सफाई व्यवस्था की हकीकत देखी।

टीम को निरीक्षण के दौरान जगह-जगह फैली गंदगी मिली। जिस पर शहर के अधिकारियों ने तत्काल काम करने की बात कही लेकिन स्थिति जस की तस है। हाल ये हैं कि लोगो का सड़कों पर चलना दूभर है।

बदबू और गंदगी के चलते लोग घरों में दुबके रहते हैं। हालात दिन ब दिन बिगड़ते जा रहे हैं। लेकिन नगर आयुक्त और महापौर को इससे कोई फर्क नही पड़ता। आम जनता काफी परेशान और आक्रोशित है।

उसका कहना है कि देश मे स्वच्छ भारत अभियान महज दिखावे के लिए कागजो पर चल रहा है। कूड़ा शहर से ही उठा कर वापस शहर की ही गलियों में डंप किया जा रहा है। लेकिन जिम्मेदार इस पर बोलने को तैयार नही हैं।

About publisher

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *