Monday , August 26 2019
Breaking News

नगर निगम की लापरवाही से गोरखपुर का हुआ बुरा हल

पंकज श्रीवास्तव

गोरखपुर। जिलें में सफाई व्यवस्था बद से बदतर होती जा रही है। हाल ये है कि जिनके कंधो पर सफाई का जिम्मा है। वही अब शहर में जगह-जगह कूड़ा फैला रहे है। ऐसे में अब व्यवस्था संभालना निगम प्रशासन के लिए टेढ़ी खीर बन गई है।

जगह-जगह कूड़ा फेंककर  कर नारेबाजी कर रहे ये लोग सफाई कर्मचारी है। इनका आक्रोश नगर निगम प्रशासन और ठेकेदार के खिलाफ है। दरअसल नगर निगम ने शहर की सफाई व्यवस्था सुधारने के लिए अगस्त माह से दो नई कंपनियों को ठेका दिया और दोनों को 35-35 वार्ड की सफाई का जिम्मा मिला।

लेकिन कहा जाता है न सर मुड़ाते ही ओले पड़े ऐसा ही कुछ हुआ नगर निगम के साथ नई व्यवस्था के तहत शहर की सफाई व्यवस्था तो नही सुधरी लेकिन हाल बदहाल तो जरूर हो गया। कंपनी के ठेकेदारो ने सफाई कर्मियों से काम तो कराया लेकिन उनका वेतन नही दिया।

पहले तो कुछ दिनों तक सफाईकर्मियों को समझा बुझाकर काम चलता रहा लेकिन जब तीन महीने तक कोई हल नही निकला तो सफाई कर्मियों ने आंदोलन की राह पकड़ ली। अब जबकि हालात बिगड़ गए तो प्रशासनिक अधिकारी सकते में आ गए।

सफाई कर्मचारियों द्वारा जगह जगह कूड़ा फेंकने की जानकारी मिलते ही सिटी मजिस्ट्रेट साहब ने सफाई सुपरवाइजर को बुलाया और मेयर साहेब के साथ बैठक कर  यथा सीघ्र वेतन देने की बात कही साथ ही ये हिदायत भी दी कि अगर हालात नही सुधरे तो कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई तक होगी।

फिलहाल गोरखपुर का नगर निगम वैसे तो हमेशा ही अपने कारनामे के कारण सुर्खियों में रहता है ऐसे में अब सफाई कर्मियों का ये आंदोलन निगम प्रशाशन के लिए जले पर नमक के समान है। अब देखना यह होगा कि निगम प्रशासन इस समस्या से  किस तरह निपटता है।

About publisher

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *