Wednesday , June 19 2019
Breaking News

सरकारी अस्पताल हुआ ‘बीमार’, मरीज खुद करते हैं साफ-सफाई

देहरादून। उत्तराखंड में एक ओर जहां सीएम रावत प्रदेश की जनता को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देने की कोशिश में जुटे हैं। वहीं दूसरी ओर विभाग और अधिकारियों की उदासीनता के चलते स्वास्थ्य व्यवस्था बद से बद्तर होती जा रही हैं।

देहरादून में बने सूबे के एकमात्र सरकारी लेप्रोसी अस्पताल की हैं। जो विभाग और प्रशासन की उदासीनता के चलते खंडहर में तब्दील हो चुका है। काफी लंबे समय से कुष्ट रोगियों के लिए चल रहा ये अस्पताल इलाज करते करते खुद रोग का शिकार हो गया है। लेकिन अस्पताल का इलाज करने वाले जिम्मेदार आंखों पर पट्टी बांधे बैठे हैं। जिसके चलते मरीजों को खासा परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

इस बदहाल अस्पताल में आधा दर्जन मरीज काफी लंबे समय से एडमिट हैं। मरीजों ने बताया कि अस्पताल में ना तो स्वीपर आता है। ना ही कोई सुविधा मिलती है।

आलम ये है कि यहां साफ सफाई मरीज खुद ही करते हैं। इतना ही नहीं अस्पताल में पानी की भी दिक्कत रहती है। हाँ  यहां के मरीजो को खाना जरूर मिल रहा है। लेकिन जिस कैंटीन से यहां खाना दिया जा रहा है।

उसका भुगतान पिछले 3 सालों से नहीं हुआ है। जिसको लेकर कैंटीन संचालक ने कई वार सीएमएस को पत्र भी लिखा है।

About publisher

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *