Wednesday , April 24 2019
Breaking News

प्रशासन की लापरवाही आई सामने, सफाई को तरसती गोमती नदी

तबरेज़ कज़िलबाश

लखनऊ। स्वच्छता अभियान के तहत जहाँ एक तरफ प्रधानमंत्री तरह-तरह के मुहिम चला रहे तो वहीं राजधानी गोमती नदी की दुर्दशा देखने के बाद ऐसा लग रहा स्वच्छता की बात तो दूर प्रधानमंत्री की साफ सफाई वाले अभियान की तनिक भी परछाई नजर नहीं आ रही।

दरअसल लखनऊ गोमती नदी के झूलेलाल घाट की मां दुर्गा पूजा व दशहरा त्योहार खत्म हो चूका है। ऐसे में राजधानी के तमाम क्षेत्रों में दुर्गा पूजा मनाने के बाद मूर्ति विसर्जन करने सभी गोमतनदी के झूलेलाल घाट पहुँच रहे।

जहाँ वे लोग प्रधानमंत्री के साथ-साथ प्रदेश मुख्यमंत्री के आदेशों का धज्जियाँ उड़ाते नजर आ रहे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मूर्ति विसर्जन के तहत एक आदेश जारी किया था। सभी लोग दुर्गा पूजन के बाद मूर्ति का विसर्जन नदियों में न करने की जगहघाट के आसपास खूदे गढ्ढो में विसर्जन करें।

ऐसे में देखा जाये तो विसर्जन कर रहे सभी लोग मुख्यमंत्री के आदेश के साथ पानी को दूषित करने से बाज नहीं आ रहे। हालाँकि गोमती नदी प्रदूषित करने वाले लोगों के साथ-साथ लखनऊ नगर निगम व प्रशासन की बहुत बड़ी लापरवाही सामने देखने को मिल रही है।

क्योंकि विसर्जन के वक्त न ही कोई सफाई कर्मचारी दिख रहा न हीं गोताखोर, न ही को कोई जिम्मेदार अधिकारी ही जो लोगों को नदी में विसर्जन करने से रोक सके।

आप को बता दें बिगत वर्ष मूर्ति विसर्जन के समय कई लोगों के नदी में डूबने से मौत हो गई थी। जहाँ लखनऊ प्रशासन व आम जनता की बड़ी लापरवाही सामने देखने को मिली। मूर्ति विसर्जन के दौरान हुई घटनाओ से सबक न लेते हुए प्रशासन मौन धारण किये हुए है।

About publisher

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *