Thursday , April 25 2019
Breaking News

आवारा पशुओं से परेशान किसान, प्रशासन ने मूंदी आंखें

आदर्श त्रिपाठी

हरदोई। जय जवान जय किसान का नारा देने वाले देश में आज किसान परेशान है। हरदोई का किसान छुट्टा आवारा जानवरों से परेशान है। रात-रात भर मचान बनाकर  किसान अपने खेतों की रखवाली आवारा जानवरों से कर रहे है लेकिन साथ ही वह शासन और प्रशासन को कोष भी रहा है।

आवारा जानवरों से बचाव के लिए प्रशासनिक अमले ने किसानों से कुछ वादे किए थे। उन्हें जमीन पर उतारने के लिए कुछ मास्टर प्लान भी बनाए थे लेकिन चंद महीनों के बाद जमीन पर बनाए गए प्लान धराशाई हो गए और उन प्लानो की वजह से किसानों को काफी दिक्कतें हैं।

किसान खून के आंसू रो रहा है और खुलेआम अपने बच्चों के मुंह तक पहुंचने वाले निवाले को लूटते हुए देख रहा है।

हरदोई के टड़ियावां  ब्लॉक के बाहर ग्राम पंचायत में करीब 9 महीने पहले पूर्व जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने किसानों को सब्जबाग दिखाए थे। किसानों को छुट्टा आवारा जानवरों की समस्या से बचाने के लिए उन्होंने कंडहुना गांव में एक पशु  आश्रय शाला  बनवाई थी।

किसानों को जानवरों से हो रही समस्या से निजात दिलाने के लिए बनी यह पशु  आश्रय शाला  बीते 9 महीने में बदहाली की स्थिति में पहुंच गई है। जब इस  आश्रय शाला की शुरुआत की गई थी तो डॉक्टरों ने चौकीदारों की भारी फौज को यहां पर लगाया गया था।

जानवरों के लिए चारे की व्यवस्था पानी की व्यवस्था के लिए प्याऊ नल चन्नी बनाई गई थी पीछे एक बड़ी जमीन में चारों तरफ तार खिंचवा कर जानवरों के लिए कॉउ अभ्यारण बनाया गया था और साथ ही यह भी कहा गया था कि जानवर खुशहाली के साथ यहां विचरण करेंगे और किसानों की समस्या खत्म हो जाएगी।

समय बीता डीएम साहब का तबादला हो गया और ड्रीम प्रोजेक्ट का सपना खत्म हो गया। अब हालात बद से बदतर हैं। आश्रय शाला में पड़ी टीन धीरे धीरे उखड़ रही है प्याऊ में पानी नहीं है। चन्नी में चारे का इंतजाम नहीं है।

About publisher

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *