Saturday , October 31 2020
Breaking News

मूलभूत सुविधाओं को तरसी जनता, प्रशासन ने मूंदी आंखें

विनीत तिवारी

हमीरपुर। यूपी के बुंदेलखंड में आजादी के 72 साल गुजरने के बाद भी लोग शिक्षा स्वास्थ और सड़क जैसी बुनियादी जरूरतों से महरूम है। जिले में कई गाँव और मजरे ऐसे है, जहाँ के वाशिंदों को आज आदम युग में जीना पड़ रहा है। यहाँ के लोगों को आज भी बड़े गढ़ढो और कीचड़ वाली से गुजरना पड़ रहा है।

मंत्रियो से लेकर संसद और विधायको से यहाँ के लोगों ने कई बार सड़क बनवाने की गुहार लगवाई लेकिन नतीजा वहीँ धक के तीन पात बना हुआ है। हमीरपुर जिले के सुरौली गाँव पंचायत के बड़ा कछार और छोटा कछार को जोड़ने वाली प्रधानमंत्री ग्रामीण सडक योजना के अंतर्गत निर्मित सड़क जिससे आधा दर्जन से अधिक गाँव और मजरे जुड़ते है।

लेकिन आजादी के बाद से एक बार सड़क निर्माण होने के बाद यहाँ दोबारा कभी भी सडक का निर्माण नहीं किया गया। जिसके चलते इसमें सड़क के नाम पर सिर्फ  और सिर्फ गढ़ढे और कीचड़ है।

अपनी किस्मत को कोसते हुए यहाँ से गुजरना सैकड़ो लोगो की दिनचर्या बन गया है। हमीरपुर जिले के यमुना नदी के बीहड़ो में स्थित ग्राम पंचायत सुरौली बुजुर्ग तक जाने वाली सड़क से आधा दर्जन से अधिक गाँव और बड़ा कछार छोटा कछार जैसे बड़ी आबादी के मजरे जुटे है।

About publisher

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *