Tuesday , November 24 2020
Breaking News

सरकारी भवनों में नहीं बने शौचालय, कर्मचारियों में बढ़ा आक्रोश

मनोज चतुर्वेदी

बलिया। देश में स्वछता अभियान और खुले शौच से मुक्ति के लिए जहां सरकार करोड़ों रूपये खर्च कर रही है। वहीँ बलिया शहर के जजी कालोनी में मौजूद सरकारी भवनों में शौच खुले आम नालियों में बह रहा है।

बजबजाती नालियों और गंदगी के बीच जी रहे सरकारी कर्मचारियों के परिवार अपने ही सरकारी महकमे की बेरुखी  से नाराज है। वहीँ बलिया के जिलाधिकारी का कहना है कि जल्द ही सरकारी भवनों की जांच कर समस्या का समाधान कराया जाएगा।

देश में स्वछता को लेकर जहां प्रधानमंत्री से लेकर मुख्यमंत्री तक बड़े-बड़े अभियान चला रहे हैं। वहीँ देश को खुले में शौच से मुक्ति दिलाने के लिए करोड़ों रूपये खर्च भी हो रहे हैं।बलिया जनपद के जजी कालोनी में मौजूद सरकारी भवनों की हालत ऐसी है कि इन घरों का शौच सीधे नाली में बह रहा है।

दरअसल जजी कालोनी में 45 सरकारी फ़्लैट है जिनमे सरकारी कर्मचारियों के परिवार रहते है। इन सरकारी आवासों की सेनेटरी टंकी भर चुकी है और इन घरों का शौच खुलेआम नालियों में बहता रहता है। ऐसे में कर्मचारियों के परिवार वालों का कहना है कि खुले में शौच गिरने से संक्रामक बीमारी फैलने का खतरा भी बढ़ गया है।

जिलाधिकारी कार्यालय से महज 100 मीटर की दूरी पर मौजूद इस कालोनी की हालत सरकारी अनदेखी की गवाही देता है। सरकारी आवासों में रहने वाले सरकारी कर्मचारियों का कहना है कि निर्माण खंड बलिया को शौच की टंकी की मरम्मत के लिए कई बार पात्र लिखा गया पर हमारी तनख्वाह से किराया जरूर काट जाता है लेकिन समस्याओं समाधान कभी नहीं होता।

बलिया जनपद को ओडीएफ कराने के लिए जहां एक से बढ़कर एक अभियान चल रहा है वहीँ सरकारी भवनों में खुले शौच के गिरने को लेकर जिलाधिकारी बलिया का कहना है कि निर्माण खंड बलिया को जांच के आदेश दे दिए गए है। स्वछता को लेकर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के निर्देशों का पूरी तरह से पालन किया जाएगा।

About publisher

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *