Thursday , December 3 2020
Breaking News

गांवों से बद्तर है सहारनपुर की  सड़कें, लोगों का चलना हुआ मुश्किल

रिपोर्ट: नीरज सिंघल

सहारनपुर:  शहर की सड़कें इस समय गांव से बदतर हो गई हैं। कॉलोनियों की सड़कों की हालत खराब है। सड़कों पर चलने वाले राहगीरों से लेकर यहां रहने वाले लोगों का जीवन नरक हो गया है। शहर के सबसे प्रमुख क्षेत्र घंटाघर से कलक्ट्रेट जाने वाले मार्ग पर गड्ढ़े ही गड्ढ़े हैं, हर रोज यहां स्कूटर सवार चोटिल होते हैं, यहीं स्थिति कोर्ट रोड पुल की है।

डीएम कार्यालय के आसपास की सड़कों में भी गहरे गड्ढ़े हैं, लेकिन वर्षों से कोई इनकी सुध लेने वाला नहीं है। नगर निगम के निर्माण  विभाग ने पिछले पांच वर्षों में आपात स्थिति के नाम पर फ़र्ज़ी पत्रावलियां तैयार कर छह करोड़ रुपये के निर्माण कार्य फाइलों में ही करा दिए, जबकी हैरानी  की बात यह है कि बीते पांच वर्षों में ऐसी कोई आपात स्थिति पैदा ही नहीं हुई।

पूर्व में तैनात रहे अधिकारियों ने लोगों की गाढ़ी कमाई पर जमकर डाका डाला। इस मामले में जब मुख्य नगर लेखा परीक्षक ने निर्माण कार्यों की जांच की तो यह पूरा मामला सामने आया बाद में मुख्य अभियंता को सस्पेंड कर मामले को दबा दिया गया जबकि इस मामले में निगम के बहुत से अधिकारियों की मिलीभगत रही थी।

अब बड़ा सवाल यह है कि जब आम लोगों को खनन मिल रहा है, तो सरकारी कार्यों के लिये अधिकारियों को क्या समस्या आ रहीं है? दूसरी बात यदि सड़कों का निर्माण संभव नहीं भी है तो गड्ढे तो भरवाए ही जा सकते हैं।

 

 

About publisher

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *