राजधानी में चोरों के हौसले बुलंद, पुलिस मुखिया की नाक के नीचें लाखों की चोरी

रिपोर्ट–सैय्यद अबू तलहा

लखनऊ। राजधानी लखनऊ मे चोरों के हौंसले इतने बुलंद हो चुके हैं कि अब उनको किसी का खौफ नही रहा। अब पुलिस मुखिया के कार्यालय और आवास के आसपास के हिस्से भी चोरों की रडार पर हैं यही वजह है कि डीजीपी ऑफिस से चंद कदमो की दूरी पर बनी ऑफिसर्स कालोनी मे चोरों ने लाखों की चोरी कर हाई सेक्योरिटी ज़ोन की सुरक्षा पर सवाल खड़े कर दिए हैं।

राजधानी में चोरों के हौसले बुलंद, पुलिस मुखिया की नाक के नीचे लाखों की चोरी

कृषि विभाग की उपनिदेशक के घर को चोरों ने दिनदहाड़े अपना शिकार बनाया और लगभग 30-40 रूपये लाख का गहना चोरी करके आराम से फरार हो गये। पीड़ित उपनिदेशक ने इसकी सूचना पुलिस को दी मौके पर पहुंची पुलिस डॉग स्क्वाड टीम छानबीन मे जुट गई।

पूरा मामला हजरतगंज थाना क्षेत्र के डालिबाग स्थित ऑफिसर्स कालोनी का है। डीजीपी मुख्यालय से चंद कदमो की दूरी पर ऑफिसर्स कालोनी है, जिसमे कृषि विभाग की उपनिदेशक शोभा रानी श्रीवास्तव अपने पति के साथ रहती हैं। जब वह अपने घर से सुबह ऑफिस के लिए निकली तभी चोरों ने बाहर के दरवाज़े का लॉक तोड़कर कर घर मे दाखिल हुए और अलमारी मे रखे सारे जेवर और नगदी लेकर चम्पत हो गये।

पीड़िता उपनिदेशक शोभा रानी श्रीवास्तव ने बताया कि जब वह घर पहुंची तो सारा सामान बिखरा पड़ा था और अलमारी मे रखा लगभग 30-40 लाख के जेवरात और तकरीबन 25 हज़ार कैश गायब था, फौरन उन्होने 100 नंबर पर सूचना दी मौके पर सीओ हजरतगंज पुलिस समेत डॉग स्क्वाड पहुंचा और जांच पड़ताल करने लगा।

यह भी पढ़े:   विशेषज्ञों की राय में फिलहाल आरबीआई ही रुपये का संकटमोचन

वही पूरे मामले पर एसपी पूर्वी सर्वेश मिश्रा ने बताया कृषि विभाग मे तैनात शोभा श्रीवास्तव अपने घर से सुबह 10 बजे निकली थी। जब वापस लौटी तो घर का ताला टूटा था अंदर रखा सामान गायब था साथ ही बताया चोरी हुए सामान की कीमत का अभी सही पता नही चल सका है। चोरी का मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। मौके पर डॉग स्क्वाड फिंगर प्रिंट टीम भी गई थी। सारे सीसीटीवी खंगाले जा रहे हैं जल्द ही मामले को अनावरण कर दिया जएगा।

सवाल ये उठता है डीजीपी ऑफिस जो की हाई सेक्योरिटी ज़ोन माना जाता है खुद प्रदेश के पुलिस मुखिया का आवास भी है वहा चोर इतनी आसानी से चोरी की वारदात को अंजाम देते हैं तो इससे कही ना कही राजधानी की सुरक्षा व्यवस्था राम भरोसे होती हुई दिखाई पड़ रही। पूरी घटना में हजरतगंज पुलिस के गश्त पर भी बड़ा सवाल खड़ा होता हुआ दिख रहा है। जब राजधानी पुलिस डीजीपी मुख्यालय के आसपास के हिस्सो कों सुरक्षित नही रख सकती तो दूर दराज के इलाके के कितने सुरक्षित होगें इसक अंदाजा आसानी से लगया जा सकता है।

=>
LIVE TV