लड़की थी, इसलिए अधिक करना पड़ा संघर्ष

मुंबई| रैपर हार्ड कौर का कहना है कि बचपन से उन्होंने बहुत-सारी नकारात्मकता का सामना किया है और उन्हें अधिक संघर्ष इसलिए करना पड़ा, क्योंकि वह एक लड़की थीं, वह भी भारतीय लड़की। हार्ड कौर लेवाइस के ‘आईशेपमाईवर्ल्ड’ मूवमेंट के चौथे संस्करण का हिस्सा हैं, जिसमें उन महिलाओं को सामने लाया जाता है, जिन्होंने अपनी शर्तो पर अपनी जिंदकी को आकार दिया है।

Rapper Hard Kaur

वीडियो में कौर को अपनी कहानी बयां करते हुए देखा जा सकता है कि उन्हें रैप की दुनिया में अपना रास्ता बनाने के लिए कितना संघर्ष कराना पड़ा था, और ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि वह लड़की थीं।

Hard-Kaur

इस बारे में पूछे जाने पर कौर ने एक ईमेल के जरिए को बताया, “मुझे अधिक संघर्ष इसलिए करना पड़ा, क्योंकि मैं लड़की थी, वह भी एक भारतीय लड़की। लोगों को भरोसा नहीं हो पाता था कि मैं एक रैपर बन सकती हूं और मुझे खुद को बार-बार साबित करने के लिए कहा गया, सिर्फ इसलिए, क्योंकि यह एक पुरुष प्रधान उद्योग था।”

ये भी पढ़ें:-सर्दियों में छोटी-मोटी बीमारियों को जड़ से उखाड़ फेंकता है यह मीठा-मीठा लड्डू

उन्होंने कहा, “मैंने हमेशा से रुढ़ियों को तोड़ते हुए काम कर रही हूं, मैंने कड़ी मेहनत की, अपनी प्रतिभा को निखारा, और उसी प्रतिभा के जरिए लोगों को गलत साबित किया।”

=>
LIVE TV