Wednesday , October 17 2018

कुंभ की तैयारियां अंतिम अक्टूबर तक होगी पूरी, बनेगा रिकार्ड

रिपोर्ट- सईद रजा

इलाहाबाद। धर्म की नगरी इलाहाबाद में गंगा-यमुना और अदृश्य सरस्वती की त्रिवेणी के तट पर दुनिया के सबसे बड़े धार्मिक मेले कुंभ मेले की तैयारियां जोरों पर है। इस बार का कुंम्भ मेला कुछ खास रहने वाला है क्योंकि इस बार प्रशासन ने मेला क्षेत्र के क्षेत्रफल में भारी इजाफा किया है। साथ ही इस बार मेला क्षेत्र का क्षेत्रफल 18 सौ बीघा से ज़्यादा किया गया है।

kumbh ke mela

कुंभ के मद्देनजर शहर में कई विकास कार्य हो रहे है जैसे सड़को का चौड़ीकरण, फ्लाई ओवर, डिवाइडर , आदि।  जिलाधिकारी सुहास एलवाई के मुताबिक अक्टूबर के अंतिम सप्ताह में ज़्यादातर शहर के सभी कार्य पूरे कर लिए जाएंगे और जो भी व्यक्ति अक्टूबर के अंतिम दिनों में आएगा उसको एक नया शहर दिखाई देगा।

2019  में लगने वाला दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक कुंभ मेला उत्तर प्रदेश सरकार के लिए  बड़ी चुनौती  है। और इसी वजह से  सरकार ने 2018 के माघ मेले को अर्जुन का रिहर्सल  घोषित किया था। इस बार के कुंभ मेले में  वह तमाम सुविधाएं होगी। इस बार 18 सौ से ज़्यादा बीघा जमीन पर पूरा का पूरा मेला  बसेगा ।कुंम्भ मेला  की तैयारी पूरी करने के लिए सभी  विभागों को तय समय दिया गया है।

मेला क्षेत्र में 22 पीपे पुल बनाए जाएंगे साथ ही मेला क्षेत्र में सेक्टरों की संख्या बढ़ाई जाएगी। लोक निर्माण विभाग को 15 दिसंबर से पहले सभी पांटून पुल तैयार करने की हिदायत दे दी गई है। सुरक्षा की दृष्टि से  इस बार पुलिस की संख्या  भी बढ़ाई जाएगी।

यह भी पढ़े: एटीएस के जनक पूर्व डीजीपी श्रीराम अरुण का लम्बी बीमारी के बाद निधन, CM योगी ने जताया शोक

जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने कहा कि सभी विभाग अपने अपने काम में लगे हुए हैं और अक्टूबर के आखिरी दिनों में सभी कार्य दिखाई देने लगेंगे। उधर स्थानीय जनता भी कुंभ के लिए हो रहे कार्यों से काफी संतुष्ट नजर आ रही है ऐसा नियमों का कहना है कि इस बार के कुंभ में एक अलग शहर बनकर  इलाहाबाद दिखाई देगा जगह-जगह सड़कों के चौड़ीकरण से एक शहर की अलग तस्वीर दिखाई देगी।

=>
LIVE TV