अध्यात्म

आज का राशिफल

आज का राशिफल

दिनांक – 25 सितम्बर, दिन – रविवार 2016 का राशिफल मेष – किसी मित्र के सहयोग से कारोबार का विस्तार हो सकता है। यात्रा पर जाना पड़ सकता है। यात्रा लाभप्रद रहेगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। वृष – परिवार में हंसी-खुशी का माहौल रहेगा। नौकरी में तरक्की के योग बन ...

Read More »

चाणक्‍य नीति

चाणक्‍य नीति

रूकावटें या जोखिम कभी दुश्मन नहीं होती। अत: उन्हें हटवाने का प्रयत्न मत करो, न ही उनसे भागने का प्रयत्न करो। उन पर झुँझलाओ नहीं, बस उन्हें अनुकूल बनाओ। अपने जीवन में प्राप्त संघर्षों व चुनौतियों का आनंद से सामना करो। उनसे प्रेम भाव से आँख मिलाओ। रूकावटें आपको अपना ...

Read More »

प्रेरक प्रसंग: होनहार बिरवान के होत चीकने पात

प्रेरक प्रसंग

महाराष्ट्र के रत्नागिरी जिले के काटलुक गांव में एक प्राईमरी स्कूल था। कक्षा चल रही थी। अध्यापक ने बच्चों से एक प्रश्न किया यदि तुम्हें रास्ते में एक हीरा मिल जाए तो तुम उसका क्या करोगे? मैं इसे बेच कर कार खरीदूंगा एक बालक ने कहा। एक ने कहा, मैं उसे बेच ...

Read More »

आज का राशिफल

आज का राशिफल

दिनांक – 24 सितम्बर, दिन – शनिवार 2016 का राशिफल मेष – आत्मविश्वास से परिपूर्ण रहेंगे। नौकरी में अफसरों का सहयोग मिलेगा। कोई अतिरिक्त जिम्मेदारी मिल सकती है। वृष – वाणी में सौम्यता रहेगी। मित्रों का सहयोग मिलेगा। आय की कमी आ सकती है। भाइयों के सहयोग मिल सकता है। मिथुन ...

Read More »

चाणक्‍य नीति

चाणक्‍य नीति

बुद्धिमान पुरुष धन के नाश को, मन के संताप को, गृहिणी के दोषो को, किसी धूर्त ठग के द्वारा ठगे जाने को और अपमान को किसी से नहीं कहते। =>

Read More »

प्रेरक प्रसंग: सुखी रहने का उपाय

प्रेरक प्रसंग

बात पुरानी है संत तुकाराम अपने आश्रम में बैठे हुए थे। तभी उनका एक शिष्य, जो स्वाभाव से थोड़ा क्रोधी था उनके समक्ष आया और बोला, ‘गुरूजी, आप कैसे अपना व्यवहार इतना मधुर बनाए रहते हैं, ना आप किसी पर क्रोध करते हैं और ना ही किसी को कुछ भला-बुरा ...

Read More »

आज का राशिफल

आज का राशिफल

दिनांक – 23 सितम्बर, दिन – शुक्रवार 2016 का राशिफल मेष – वस्त्रों आदि के प्रति रुझान बढ़ेगा। दाम्पत्य सुख में वृद्धि होगी। शैक्षिक कार्यों में व्यवधान आएंगे। आय में कमी एवं खर्च अधिक हो सकते हैं। वृष – आशा-निराशा के मिश्रित भाव मन में रहेंगे। परिवार की समस्या परेशान ...

Read More »

चाणक्‍य नीति

चाणक्‍य नीति

जो अपने निश्चित कर्मों अथवा वास्तु का त्याग करके, अनिश्चित की चिंता करता है, उसका अनिश्चित लक्ष्य तो नष्ट होता ही है, निश्चित भी नष्ट हो जाता है   =>

Read More »
LIVE TV