Wednesday , September 20 2017

केंद्र सरकार पर राहुल का निशाना, कहा- विदेशी नीति में मोदी सरकार फेल

केंद्र सरकार कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अपने दून दौरे में शिरकत करने के बाद भूटान के डोकलाम और उत्तराखंड के बाड़ाहोती में चीनी घुसपैठ पर चिंता जताते हुए केंद्र की मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोला। उन्होंने कहा कि चीन चारों ओर से भारत को घेर रहा है, जबकि केंद्र सरकार चुप्पी साधे बैठी है। ये मोदी सरकार की नीतियों की खामियां ही हैं कि भारत के साथ खड़े रहने वाले देश रूस, ईरान और तुर्की तटस्थ बने हुए हैं। आज भारत और चीन के बीच जो भी तनातनी है वो सिर्फ मोदी सरकार की वजह से है। भूटान के हिस्से डोकलाम पर चीनी सेना काबिज होने के बावजूद भारत कुछ नहीं कर रहा है।

जौलीग्रांट एयरपोर्ट के समीप स्थित एक होटल में प्रदेश के वरिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार की विदेशी नीति को फेल करार दिया है।

देर शाम कार्यकर्ताओं से मुलाकात के दौरान राहुल ने प्रदेश की भाजपा सरकार के पांच माह के कार्यकाल में खामियों पर पार्टी के पलटवार पर जवाब तलब कर कार्यकर्ताओं के साथ वरिष्ठ नेताओं को भी चौंका दिया। वहीं प्रदेश के वरिष्ठ नेताओं व कार्यकर्ताओं से मुलाकात को पहुंचे राहुल गांधी ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह को सामने देखकर उनसे पूछा कि राज्य की सरकार कैसे काम कर रही है।

 

यह भी पढ़े- शेयर बाजार साप्‍ताहिक समीक्षा: स्मॉलकैप, मिडकैप सूचकांक ने सेंसेक्स को पछाड़ा

प्रीतम सिंह ने सरकार की नीतियों से जनता में रोष का जिक्र करते हुए शराब, खनन, किसान आत्महत्या के मुद्दों पर पार्टी के विरोध के बारे में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष को बताया। उन्होंने राहुल को उत्तराखंड दोबारा आने का निंत्रण भी दिया तो उन्होंने अपना सिर हिलाकर हामी भरे।

राहुल ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत से भी सवाल पूछे, तो उन्होंने कहा कि जिस शराब के ब्रांड को लेकर उनकी सरकार के खिलाफ हो-हल्ला मचाया गया, अब भाजपा सरकार खुद उसकी ब्रांडिंग कर रही है। उन्होंने केंद्र की पिछली यूपीए सरकार और राज्य की कांग्रेस सरकार की खाद्य सुरक्षा नीति, नंदादेवी-गौरादेवी योजना के जरिए महिला सशक्तीकरण की नीतियों को कमजोर करने का आरोप भाजपा की प्रदेश सरकार पर लगाया।

 

यह भी पढ़े- शनिदेव को मान लें अपना शिक्षक, होगा भाग्योदय

राहुल अपने कार्यकर्ताओं को समझाते हुए बोले ये मुलाकात हमारे लिए जरूरी था। राहुल कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाते हुए बाले चुनाव में हार से निराश होने की जरूरत नहीं है। कांग्रेस को 2019 में फिर से वापस लाने में जुटना होगा। बीते रोज भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने जिस तरह अगले लोकसभा चुनाव में पार्टी के लिए 350 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है, इसके जवाब में राहुल ने कार्यकर्ताओं को भी मिशन 2019 का लक्ष्य थमाने में देर नहीं लगाई।

=>
LIVE TV