Thursday , March 30 2017

राजधानी में स्वास्थ्य सेवाएं वेंटीलेटर पर, कैसे होगा मरीजों का इलाज.?

स्वास्थ्य सेवाएं वेंटीलेटर परदेहरादून: राजधानी में स्वास्थ्य सेवाएं वेंटीलेटर पर हैं। इसकी तस्दीक दून अस्पताल समेत तीन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कर रहे हैं। दून अस्पताल में पिछले दो माह से सीटी स्कैन मशीन खराब है तो दूसरी ओर इन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर पिछले डेढ़ माह से ऑपरेशन ठप हैं। ऐसे में सरकारी लापरवाही का फायदा निजी अस्पताल बखूबी उठा रहे हैं।

प्रेमनगर संयुक्त स्वास्थ्य केंद्र और सीएचसी विकासनगर ऐसे अस्पताल हैं, जहां जौनसार बावर जैसे जनजातीय इलाके के साथ ही पछुवादून और सीमांत हिमाचल से मरीज इलाज को पहुंचते हैं।

पहले दोनों स्वास्थ्य केंद्रों पर सैकड़ों ऑपरेशन होते थे। लेकिन, अब दोनों अस्पतालों के एकमात्र एनेस्थेटिक विशेषज्ञ का तबादला कर दिया गया है। ऐसे में यहां दो माह से मरीजों के ऑपरेशन ठप हो गए हैं।

इनके अलावा रायपुर सीएचसी भी पिछले छह माह से बंद पड़ा हुआ है। ऐसे में इन तीन अहम सीएचसी का प्रेशर सीधे तौर पर दून अस्पताल पर पड़ रहा है।

दून अस्पताल में सीटी स्कैन ठप: दून अस्पताल में सीटी स्कैन दो माह से ठप है। लेकिन, इस मशीन की मरम्मत कराने की जरूरत अभी तक चिकित्सा शिक्षा विभाग ने समझी नहीं है। मरीजों को निजी सेंटरों पर ज्यादा रुपये देकर जांच करानी पड़ रही है।

मुफ्त भोजन की सुविधा भी बंद होगी: दून अस्पताल में मरीजों को मुफ्त भोजन उपलब्ध कराने वाली कैंटीन को पिछले एक साल से भुगतान नहीं हो सका है। कैंटीन संचालक को चिकित्सा शिक्षा विभाग की ओर से लगभग सत्तर लाख रुपये का भुगतान करना है। अब तो कैंटीन संचालक ने भी ज्यादा दिन उधारी में खिलाने से हाथ खड़े कर दिए हैं।

स्वास्थ्य सेवाएं वेंटीलेटर पर निजी अस्पताल उठा रहे हैं जमकर फायदा..

विकासनगर और प्रेमनगर सीएचसी में जल्द ही ऐनस्थेटिक विशेषज्ञ की नियुक्ति की जाएगी। जहां तक रायपुर सीएचसी की बात है तो यह मामला कोर्ट में चल रहा है। इसे शासन स्तर से ही देखा जाना है।-डॉ. वाईएस थपलियाल, सीएमओ

देहरादून। सीएचसी प्रेमनगर में दो दिन से वाटर पंप खराब पड़ा है। इससे पानी की किल्लत बनी हुई है। 30 बेड की व्यवस्था वाले इस अस्पताल में भर्ती मरीजों और उनके परिजनों को बिना पानी के परेशानी उठानी पड़ रही है। पानी की किल्लत से अस्पताल में गंदगी फैली हुई है। गंदगी के चलते मरीज अस्पताल छोड़कर भी चले गए।

डा.दयाल शरण का कहना है कि ओवरहेड टैंक में पानी भरने वाला पंप खराब हुआ है। इसकी मरम्मत के लिए कहा गया है। फिलहाल टैंकरों से पानी का इंतजाम किया जा रहा है।

LIVE TV