केंद्रीय मंत्री ने ट्रक पर लटककर शहीद को दी श्रद्धांजलि

पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए पंकज त्रिपाठी का पार्थिव शरीर शनिवार को महराजगंज लाया गया. इस दौरान उनके गांव में जनसैलाब उमड़ पड़ा. उनके पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए रखा गया.

इस दौरान मोदी सरकार में वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ल ने ट्रक पर चढ़कर शहीद पंकज त्रिपाठी को पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी. कश्मीर में सीआरपीएफ पर हुए हमले में शहीद हुए पंकज का शव आज सुबह जैसे ही गांव पहुंचा, पूरे गांव में कोहराम मच गया.

परिजनों का तो तीन दिन से रो रोकर बुरा हाल है, शहीद पंकज त्रिपाठी की तीन बहने हैं तीनों की शादी हो चुकी है, एक छोटा भाई है जो बीए प्रथम वर्ष का छात्र है. जून 2011 में पंकज की शादी फरेंदा के सोहरौलिया खुर्द की रहने वाली रोहणी के साथ हुआ था. शहीद पकंज त्रिपाठी का तीन वर्ष का मासूम बेटा प्रतीक भी है, जिसे अपने पिता के शहादत के बारे में पता ही नहीं है.

रिलायंस फाउंडेशन ने ली पुलवामा के शहीदों के परिवार की जिम्मेदारी

शहीद पंकज की पत्नी गर्भवती हैं और उनकी हालत सबसे ज्यादा खराब है, किसान परिवार से तल्लुक रखने वाले पकंज की मां सुशीला देवी बेटे के बिछुड़ने का गम सहन नहीं कर पा रहीं. वह बार-बार बेहोश हो रही हैं. उन्हें जब भी होश आता है तो बस एक ही बात पूछती हैं, कब आएगा मेरा लाल. बता दें कि पंकज अभी ढाई महीने की छुट्टी के बाद 10 फरवरी को ही ड्यूटी ज्वाइन करने के लिए गये थे और ड्यूटी ज्वाइन करने बाद ही वो देश के लिए शहीद हो गये.

=>
LIVE TV