रामविलास वेदांती का बयान भारत माता का टुकड़े करने वालों का काट देना चाहिए सिर

ramvilas-588x420एजेन्सी/  राम जन्म भूमि न्याय समिति के वरिष्ठ सदस्य और पूर्व सांसद डॉ. रामविलास वेदांती ने कहा कि भारत विरोधी नारे लगाने वाले और भारत माता की जय का विरोध करने वालों को इस देश में रहने का कोई अधिकार नहीं है. उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों के लिए संसद में कानून बनाकर उन्हें देश से बाहर निकाल देना चाहिए.

बातचीत में वेदांती ने एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी, देवबंद, दारुल उलूम और जेएनयू के छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर जमकर निशाना साधा.

उन्होंने कहा कि जब विदेश के मुस्लिम यहां आकर भारत माता की जय बोल सकते हैं तो यहां के मुसलामानों को आपत्ति क्यों हैं. ऐसे लोगों के खिलाफ सरकार को कड़े कानून बनाकर उन्हें फांसी दे देनी चाहिए. इतना ही नहीं जो भी कोई इसका विरोध करता है उसे भारत में रहने का कोई अधिकार नही है.

उन्होंने कहा, ‘भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सामने जब अरब देशों के रहने वाले लाखों मुसलमान भारत माता की जय बोल सकता है तो हिन्दुस्तान में रहने वाला मुसलमान भारत माता की जय क्यों नही बोल सकता?’

वेदांती ने साफ किया जो शख्स भारत विरोधी नारे लगाता है और उसे टुकड़े-टुकड़े करने की धमकी देता है, ऐसे लोगों का सिर काट देना चाहिए.

असदुद्दीन ओवैसी हैं भारत विरोधी…

असदुद्दीन ओवैसी पर हमला बोलते हुए वेदांती ने कहा उन्हें भारत में रहने का कोई अधिकार नही है. क्योंकि वे भारत विरोधी हैं और वे देश में रहकर भारत का अपमान करते हैं.

संसद में बने कानून…

वेदांती ने कहा कि सरकार दोनो सदनों (लोकसभा, राज्यसभा) में बिल पास कर ऐसा कानून बनाए जिसमें अगर कोई भी भारत माता की जय ना बोले तो उससे इस देश की नागरिकता छीन कर देश निकाला दे दिया जाए.

=>
LIVE TV