वर्ल्ड कप से पहले टीम इंडिया हुई कमज़ोर ,जानिए ऐसे बनेगी चैंपियन

नई दिल्ली : क्रिकेट की दुनिया में इंडिया टीम ने अपना प्रदर्शन काफी अच्छा दिया है लेकिन दिल्ली के फिरोजशाह कोटला में खेले गए पांचवें और आखिरी मैच में भारतीय टीम को 35 रन से हार का सामना करना पड़ा हैं। और इसी के साथ भारत ने पांच मैचों की वन-डे सीरीज 2-3 से गंवा दी। बता दें कि इस मैदान पर भारत ने 21 साल बाद ऑस्ट्रेलिया के हाथों शिकस्त खाई है। वर्ल्ड कप से पहले ही इस हार ने टीम इंडिया की चार कमियों को उजागर कर दिया है। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के बाद चौथे नंबर पर एक मजबूत बल्लेबाजा का न होना टीम इंडिया की मिडिल ऑर्डर बल्लेबाजी को कमजोर बनाता है। जहां कुछ वक्त तक ऐसा माना जा रहा था कि अंबाती रायुडू इस नंबर पर बेहतर कर सकते हैं। लेकिन सीरीज में उनके खराब प्रदर्शन ने टीम की कमजोरियां उजागर कर दिया है।

इंडिया टीम

 

दरअसल भारतीय स्पिनर टीम इंडिया की सबसे बड़ी मजबूती हैं। कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल ने पिछले दो साल में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। लेकिन हमारे दो भारतीय स्पिनर अपनी ही सरजमीं पर कंगारू लेग स्पिनर एडम जांपा से हार गए। इस सीरीज में उन्होंने 11 विकेट चटकाए। युजवेंद्र चहल ने तो इस सीरीज में सिर्फ एक ही मुकाबला खेला उसमें भी उन्होंने 80 रन लुटा दिए । देखां जाये तो टीम इंडिया की जीत का दरवाजा बड़ी ओपनिंग साझेदारी के बिना खुलना मुश्किल है, ऐसे में रोहित शर्मा और शिखर धवन को अपनी जिम्मेदारी समझनी होंगी और वर्ल्ड कप में खुद को साबित करते हुए बड़े स्कोर करने होंगे।

अखिलेश-मायावती की इस चाल से कांग्रेस को लगेगा बड़ा झटका, करने जा रहे ये फैसला…

 

 

इंडिया टीम

 

 

ख़ासतौर पर शिखर धवन जो लगातार फ्लॉप होने के बाद एक बड़ा धमाका करके शांत हो जाते हैं, उन्हें संयम बरतना होगा।भारत का पेस बॉलिंग अटैक भी इस टूर्नामेंट में काफी सुस्त नज़रआया है। ख़ासतौर पर स्विंग स्पेशलिस्ट भुवनेश्वर कुमार ने तो काफी निराश किया है। जहां सिर्फ जसप्रीत बुमराह या मोहम्मद शमी के दम पर ही हर बार मैच जीतना मुमकिन नहीं है।

=>
LIVE TV