मुंबई : अस्पताल में आग की जांच के आदेश

मुंबई| महाराष्ट्र सरकार ने यहां एक सरकारी अस्पताल में भीषण आग लगने की घटना की जांच के मंगलवार को आदेश दिए हैं। इस घटना में आठ लोगों की मौत हो गई है। आग में झुलसे 176 लोगों का अन्य अस्पतालों में इलाज चल रहा है, जबकि 25 लोगों की हालत गंभीर है।

आग सोमवार अपराह्न् अंधेरी (पूर्व) स्थित कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) अस्पताल में लगी और तीसरी व चौथी मंजिल में फैल गई।

प्रारंभिक जांच के अनुसार, मरम्मत कार्य के लिए रखी कुछ सामग्री में आग पकड़ लिया, जिससे धुंए का गुबार बन गया और अफरा-तफरी मच गई।

इस दुर्घटना के शिकार आठ लोगों में अधिकांश की मौत दम घुटने से हुई, जबकि एक शख्स की मौत अस्पताल की तीसरी मंजिल से कूदने से हुई।

एक अधिकारी ने कहा कि 142 लोगों का शहर के सार्वजनिक और निजी अस्पतालों में इलाज किया जा रहा है, जबकि अबतक 26 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है।

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस घटना की जानकारी दी है और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे. पी. नड्डा से बात की है।

केंद्रीय श्रम मंत्री संतोष कुमार गंगवार और नड्डा यहां पीड़ित परिवारों और जीवित बचे लोगों से मिलने पहुंचने वाले हैं।

श्रम मंत्रालय ने मृतकों के प्रत्येक परिवार के लिए 10 लाख रुपये और मामूली व गंभीर रूप से घायल शख्स के लिए एक लाख से दो लाख रुपये मुआवजे की घोषणा की है।

गंगवार ने अपने अधिकारियों के साथ बैठक कर ईएसआईसी दिल्ली के चिकित्सकों का एक दल मुंबई भेजा है।

ट्रंप से कभी भी मिलना नहीं चाहूंगा : रॉबर्ट डी नीरो

मरोल एमआईडीसी स्थित पांच मंजिला अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर के पास आग लगी थी। आग लगने का कारण शॉर्ट हो सकता है, जो तेजी से फैल गई और 155 लोग इमारत में फंस गए।

दमकलकर्मियों ने सीढ़ियों से, जबकि अन्य बचावकर्ताओं ने तीसरी और चौथी मंजिलों पर फंसे लोगों को निकालने के लिए रस्सियों और साड़ियों का सहारा लिया।

=>
LIVE TV