Friday , March 31 2017

भुखमरी की कगार पर भारत सरकार के कर्मचारी, 40 महीने से नहीं मिली तनख्वाह

भुखमरी की कगारइलाहाबाद। भारत सरकार के 132 कर्मचारी भुखमरी की कगार पर हैं। यह कर्मचारी 40 महीनों से बिना वेतन के अपना जीवन काट रहे हैं। कर्मचारियों ने आरोप लगाया है कि कंपनी ने 40 महीनों से उनका वेतन नहीं दिया। कर्मचारियों ने इस बाबत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मदद की गुहार लगाई है। बता दें ये कर्मचारी नैनी स्थित त्रिवेणी स्ट्रक्टचरल्स लिमिटेड में कार्यरत थे।

भुखमरी की कगार

इलाहाबाद के नैनी स्थित त्रिवेणी स्ट्रक्टचरल्स लिमिटेड जिसकी स्थापना 1965 में तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री लाल बहादुर शास्त्री ने की थी।

कंपनी के  घाटे  के  चलते  उद्योग मंत्रालय  के मंत्री ने जुलाई 2012 में कंपनी बंद करने का निर्णय लिया था। जिसके बाद इलाहबाद हाइकोर्ट ने अक्टूबर 2013 को कंपनी बंद कर लिक़विडेटर लगा  दिया था।

इसके बाद कर्मचारियों को  बाहर  का रास्ता दिखा दिया गया था। कर्मचारियों का कहना है कि सितंबर 2013 से अब तक लगभग 40 महीने गुज़र गए। आज तक नियोक्ता ने कर्मचारियों को वेतन नहीं दिया।  साथ ही न कोई परिपत्र या पत्र कर्मचारियों के पक्ष में जारी किया कि उनकी सेवा की क्या स्थिति है।

कर्मचारियों ने प्रधानमंत्री  से गुहार लगाई है की उनके परिवार भुखमरी , बीमारियों से कष्ट भोग  रहे हैं। बच्चों की  पढ़ाई छूट रही है। बेटियों की शादी नहीं  हो पा रही है। इस संबंध में जल्द से जल्द कोई उचित निर्णय लिया जाए। ताकि कर्मचारियों को उनका बकाया वेतन मिल सके।

LIVE TV