बेटी के कन्या दान से पहले माँ-बाप ने खुद की शादी ! वजह चौंकाने वाली है …

आजकल कुछ भी हो सकता है . इस बात से कई लोग इत्तेफाक रखते होंगे. और कई लोग इसे किस्मत का लिखा हुआ भी बोलते हैं. हमारे समाज में बेटी की शादी में कन्यादान करना हर माता पिता के लिए सबसे बड़े पुण्य का काम माना जाता है. मध्य प्रदेश में यही पुण्य प्राप्त करने के लिए बेटी की शादी से ठीक एक दिन पहले उसके मां बाप ने शादी की ताकि वो कन्यादान कर सकें. अब आप सोच रहे होंगे कि बेटी की शादी से पहले उसके माता-पिता ने क्यों शादी की?

दरअसल मध्य प्रदेश के अशोकनगर में 55 साल के पिता अपनी 50 साल की लिव इन पार्टनर के साथ रहते हैं. ऐसे में जब उनकी बेटी की शादी की बारी आई तो कन्यादान में कोई सामाजिक संस्कृति बाधा न बन जाए.

इसलिए उन्होंने पहले अपने पार्टनर और लड़की की मां से शादी कर ली. शादी के अगले ही दिन उनकी बेटी की भी शादी हुई जिसमें माता-पिता ने कन्यादान किया.

बेटी की शादी से पहले पूरा गांव उसके माता-पिता की शादी का गवाह बना जहां मुंगावली के रुहाना गांव के रहने वाले परमाल सिंह लोधी बारात लेकर अपने ही घर पहुंचे और 50 साल की अपनी लिव इन पार्टनर जो कि दुल्हन के रूप में तैयार थी उससे शादी रचाई.

दोनों करीब 25 सालों से लिव इन में रह रहे थे और उनके चार बच्चे भी हैं. इन चार बच्चों में दो बेटियां और दो बेटे शामिल हैं. परमाल सिंह लोधी की सबसे बड़ी बेटी कल्लो है जिसकी उम्र 18 साल है जबकि सबसे छोटा उनका बेटा है जिसकी उम्र 10 साल  है.

 

हैवानियत : गाँव के 4 लोगों ने 13 साल के लड़के से बगीचे में की दरिंदगी !

 

माता-पिता की शादी के बाद अगले दिन उनकी सबसे बड़ी बेटी कल्लो की शादी हुई जिसमें कन्यादान पिता परमाल सिंह ने किया.

अब सवाल उठता है कि क्या जो लोग लिव इन रिलेशन में रहते हैं वो अपने बच्चे की शादी में कन्यादान नहीं कर सकते हैं और क्या इसलिए उन्हें शादी करनी पड़ी.

दरअसल बेटी की शादी से एक दिन पहले पंडित और लोधी के रिश्तेदारों ने उनसे कहा कि पिता ने सात फेरे नहीं लिए हैं इसलिए वो अपनी बेटी का कन्यादान नहीं कर सकते.

पंडित और रिश्तेदारों के यह कहने के बाद लोधी ने पहले खुद शादी करने का मन बना लिया और उन्होंने अपनी लिव इन पार्टनर से शादी रचा ली.

दिलचस्प यह है कि पिता की शादी में बाराती उनके ही चार बच्चे बने जो बैंड बाजा लेकर अपने घर पहुंचे और धूम-धाम से अपने पिता की शादी मां से करवा दी.

बेटियों ने पिता की शादी में जमकर डांस किया और शादी भी सादगी से संपन्न की गई. बेटियों की मां का कन्यादान गांव के ही  बुजुर्ग हलका सेन ने किया और इस शादी में 25-30 रिश्तेदार बनकर शामिल हुए.

 

=>
LIVE TV