Exit Polls:बिहार में महागठबंधन पर भारी पड़ा मोदी-नीतीश का जादू

लोकसभा चुनाव के खत्म होने के साथ ही पूरे देश के एग्जिट पोल आ गए हैं। सभी एग्जिट पोल में एनडीए भाजपा के नेतृत्व पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाने की स्थिति में साफ नजर आ रही है।

बिहार में महागठबंधन

एग्जिट पोल के मुताबिक, बिहार में कांग्रेस-राजद व अन्य दलों को मिलाकर बने महागठबंधन को बहुत बड़ा झटका लग रहा है। जहां सभी एग्जिट पोलों में एनडीए को 30 से अधिक लोकसभा की सीटें मिल रही हैं, वहीं महागठबंधन 10 के आंकड़े को भी पार नहीं करती दिख रही है।

बिहार में भाजपा और जदयू 17-17 सीटों पर चुनाव लड़े थे, जबकि 6 सीटों पर लोजपा ने चुनाव लड़ा था। जहिर एग्जिट पोल में एनडीए को एकबार फिर से सफलता हाथ लगती दिख रही है। जिसकी एकमात्र वजह दिख रहे हैं नरेंद्र मोदी। मोदी के चेहरे पर पूरा चुनाव लड़ा गया और ये नतीजे साफ जाहिर करते हैं कि मोदी का जादू जनता के बीच अभी बरकरार है।

भारत में लांच हुआ 48 मेगापिक्सल कैमरा वाला रेडमी नोट 7एस, देखें इस धांसू फोन की कीमत…

महागठबंधन के दहाई अंक तक भी नहीं पहुंचने की एक बड़ी वजह नजर आती है, वो है संगठन में बिखराव। जहां भाजपा बिहार में लगातार अपनी संगठन को कसा, वहीं महागठबंधन का कुनबा सीटों के आपसी विवाद में उलझकर बिखरता चला गया। भाजपा ने जदयू के साथ बराबर की सीटों पर चुनाव लड़कर पिछले आम चुनाव में जीती हुईं अपनी सीटों की कुर्बानी भी दे दी थी।

नतीजों को देखें तो एनडीए की जीत में जदयू ने बड़ा रोल अदा किया है। क्योंकि बिहार की विपक्षी पार्टी की राजद का वोट बैंक आधार पिछड़े वर्ग के मतदाता हैं और जदयू को भी उसी वर्ग के मतदाता वोट करते आए हैं। शायद जदयू ने पिछड़ों का वोट खींचकर भाजपा के पाले में कर दिया, जिसका नतीजा एग्जिट पोल में नजर आ रहा है। अब असली सत्ता का हकदार कौन होगा ये तो 23 मई को ही पता चलेगा। लेकिन एग्जिट पोल में तो भाजपा बाहुबली बनकर उभरी है।

=>
LIVE TV