Wednesday , September 20 2017

उत्तराखण्ड में पर्यटक हुए बेहाल, जानें अब कहाँ ले सकते हैं मज़े

बर्फ़बारी का आनंददेहरादून: उत्तराखण्ड घुमने आए सैलानियों को जहाँ एक ओर वहां हो रही बर्फ़बारी का आनंद मिल रहा है, वहीँ बर्फ़बारी के साथ हो रही बारिश के चलते उन्हें तमाम दिक्कतों का सामना भी करना पड़ रहा है.

बारिश के साथ बर्फ गिरने से पारा जमाव बिंदु से नीचे चला गया है.

जिस वजह से तमाम जलस्त्रोत जम गए हैं.

कुछ स्थानों पर लाइन में फ़ॉल्ट आने से विद्युत आपूर्ति ठप हो गयी है.

भारी बर्फबारी के चलते नैनीताल हाईवे 23 घंटे बंद रहा.

जिस वजह से लगे लंबे जाम ने पर्यटकों को खूब परेशान किया.

जाम से बचने के लिए रविवार को अधिकांश पर्यटक वापस लौट गए.

वहीं मसूरी में भी भीषण जाम से कुछ सैलानी बिना बर्फबारी का आनंद लिए वापस लौट गए.

क्योंकि बुरांसखंडा के आगे भारी बर्फबारी के चलते वाहन आगे नहीं बढ़ पाए.

साथ ही टिहरी जिले में चंबा-मसूरी मोटर मार्ग पर बर्फबारी होने से वाहनों का चलना दूभर रहा पर्यटकों को जड़ीपानी के पास आधे रास्ते से ही बैरंग लौटना पड़ा.

उत्तरकाशी जिले में गंगोत्री हाईवे सुक्खी टॉप से आगे बंद पड़ा है जबकि यमुनोत्री हाईवे पर राड़ी टॉप के पास मार्ग पर बर्फ होने से हाईवे पर बड़े वाहनों की आवाजाही बंद कर दी गई है।

केदारनाथ धाम में सवा चार फीट तक बर्फ जमा है

चमोली जिले के औली में बर्फबारी का लुत्फ उठाने के लिए पर्यटकों का हुजूम उमड़ पड़ा.

पिछले दो दिनों से औली में जमकर बर्फबारी हुई.

कवांण बैंड से औली तक बर्फ जमी हुई है.

बर्फ़बारी का आनंद मिला यहाँ…

घुमने गए सैलानियों ने चमोली जिले के औली में बर्फबारी का मज़ा लिया.

पिछले दो दिनों से औली में जमकर बर्फबारी हुई है.

वहीँ चमोली के साथ उत्तरकाशी जिले में चौरंगीखाल, नचिकेता ताल, सुखी टॉप, हर्षिल, राड़ी टॉप, डोडीताल, दयारा आदि पर्यटक स्थल पर पर्यटकों की खूब भीड़ रही.

रुद्रप्रयाग जिले में केदारनाथ सहित ऊंचाई वाले इलाकों में शनिवार की रात जमकर हुई बर्फबारी के बाद रविवार को जिले में मौसम सुहावना रहा

 

=>
LIVE TV