फर्जी अफवाहों और सूचनाओं से मतदान हो सकता है प्रभावित, आयोग ने पूरी की तैयारी…

रिपोर्ट- उमेश मिश्रा

लखनऊ। लोकसभा चुनाव के प्रथम चरण में 8 सीटों पर हुए चुनाव के दौरान कई जगहों से फर्जी वोटिंग सहित वोटिंग मशीन खराब होने और मुस्लिम महिलाओं द्वारा फर्जी वोट डालने की शिकायत सहित हिंसक झड़प की सूचनाएं भी लगातार सामने आई ।

जो कहीं ना कहीं चुनाव आयोग और उत्तर प्रदेश पुलिस के लिए परेशानी का सबब बनी रही । जांच के बाद अधिकतर सूचनाएं कोरी अफवाह और फर्जी साबित हुई। जिसने आयोग और अधिकारियों को ये सोचने पर मजबूर कर दिया कि कही न नही इसके पीछे चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश की गई थी।

जिसके बाद लोकसभा के चुनाव का दूसरा चरण अब 18 अप्रैल को है जहां 8 सीटों के लिए एक बार फिर मतदान होना है ऐसे में चुनाव अयोग और प्रशासन, सीपीएफ और पुलिस अधिकारीयो ने निष्पक्ष और पारदर्शी चुनाव कराने को लेकर अब खास रणनीति तैयार की है ।

8 सीटों पर होने वाले चुनाव को लेकर तमाम संवेदनशील और अति संवेदनशील बूथों को चिन्हित कर वहां पर सुरक्षा के और ज्यादा प्रबंध किए गए है। इसके साथ ही अधिकारियों को सचेत किया गया है कि वो आने वाली फर्जी अफवाहों व सूचनाओं पर ध्यान ना देकर विवेक पूर्वक काम करें । दरअसल प्रथम चरण में आई अफवाहों और फर्जी सूचनाओं की जांच के बाद ये हैरान करने वाली बात सामने आई है कि इसके पीछे चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश थी।

दरअसल जिस तरह से पहले चरण की 8 सीटों पर जिसमें सहारनपुर , कैराना, मुजफ्फरनगर, बिजनौर , मेरठ, बागपत , गाजियाबाद और गौतमबुद्ध नगर शामिल रहे। इन तमाम जगहों पर मतदान के दौरान समाजवादी पार्टी बीएसपी कांग्रेस और खुद बीजेपी के नेताओं ने तमाम शिकायतें की ।

भारत में 24 अप्रैल को लांच होगी ये धांसू बाइक, इसकी खासियत जानकर हैरान रह जाएंगे आप

जांच के दौरान अधिकतर सूचनाये कोरी अफवाह साबित हुई जिसके बाद आयोग और पुलिस प्रशासन पूरी तरह से अब सचेत हो गया है। और दूसरे चरण में और सुरक्षा व्यवस्था सहित बूथों पर मतदाताओं के लिए जलपान समेत तमाम सुविधाये भी मुहैया कराई जा रही है । जिससे चुनाव अच्छे और शांतिप्रिय माहौल में सम्पन्न कराया जा सके।

=>
LIVE TV