Sunday , October 22 2017

नन्हें बच्चों ने पढ़ाया मानवता का पाठ, जीवन को जीने की दी नई राह

प्रदूषण की मारलखनऊ। देश में बढ़ती प्रदूषण की मार और व्याप्त सामजिक कुरीतियों को ध्यान में रखते हुए राजधानी के लखनऊ पब्लिक स्कूल के बच्चों ने रंगारंग कार्यक्रम की प्रस्तुती दी। इस कार्यक्रम का आयोजन स्कूल की वृन्दावन योजना शाखा में किया गया। इस कार्यक्रम में नन्हें बच्चों के माध्यम से सामाजिक समस्याओं को केन्द्र बिन्दु मानकर उनके समाधान प्रस्तुत किये गये।

प्रदूषण की मार…

कार्यक्रम में प्री-नर्सरी के बच्चों ने अपने नृत्य द्वारा समाज में खुशियां फैलाने का सन्देश देकर खूब तालियाँ बटोरीं। ‘‘पावन गंगा’’ कार्यक्रम में गंगा की अलौकिकता का वर्णन करते हुए उसे प्रदूषण से मुक्त रखने की प्रेरणा दी गई।

कक्षा-1 के बच्चों ने ‘‘मेक इन इण्डिया’’ कार्यक्रम के माध्यम से कुटीर उद्योग व स्वदेषी उत्पादों को बढ़ाने का संदेष दिया।

जूनियर कक्षाओं के बच्चों ने ‘‘पैन्डोरा बॉक्स’’ इंग्लिष प्ले के माध्यम से बताया कि समाज में जब तक आषा की भावना विद्यमान है तब तक कोई भी बुराई विजयी नहीं हो सकती है।

‘‘गिव मी सम सनशाइन’’ कार्यक्रम के माध्यम से छात्रों द्वारा रट कर परीक्षा पास कर लेने की प्रवृत्ति के स्थान पर अपनी मौलिक क्षमताओं के विकास का संदेष दिया गया।

‘‘हौसलों की उड़ान’’ नृत्य के माध्यम से तेजाबी हमले की षिकार युवती को भी नवजीवन जीने की प्रेरणा दी गई। देषभक्ति पर आधारित ‘‘रंग दे बसन्ती’’ कार्यक्रम इस समारोह का मुख्य आकर्षण रहा। इसमें भगत सिंह के बाल्यकाल से फाँसी तक की झलकियों ने पूरे वातावरण को देश भक्ति के रंग में सरोबार कर दिया।

इस अवसर पर कक्षा-10 के सम्मान सहित उत्तीर्ण मेधावी छात्रों व उनके अभिभावकों का अभिनन्दन मुख्य अतिथि निरूपम मुखर्जी, एडीशनल डायेरक्टर, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, भारत सरकार द्वारा किया गया। बच्चों को ट्राली बैग और अभिभावकों को शाल व बुके प्रदान किया गया।

इस अवसर पर विषेश अतिथि के रूप में मुकेश शर्मा-नगर अध्यक्ष भाजपा, ए.के. सिंह-सीनियर काउंसिल फार सेन्ट्रल गर्वमेन्ट उपस्थित थे।

=>
LIVE TV