पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर बोले-आखिरकार पाकिस्तान ने देर से लिए सही फैसले, देखो नतीजा भी रहा टीम के पक्ष में

पाकिस्तान टीम की जब तीन मैचों की टी20 सीरीज के दूसरे मुकाबले में खराब रणनीति की वजह से हार गई थी तो टीम के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने टीम मैनेजमेंट और कप्तान बाबर आजम की जमकर आलोचना की। वहीं, जब पाकिस्तान ने तीसरा टी20 मैच जीतकर सीरीज को बराबर कर दिया है तो शोएब अख्तर ने टीम मैनेजमेंट के फैसलों की तारीफ की है। शोएब अख्तर ने कहा कि चयनकर्ताओं ने आखिरकार इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टी20 इंटरनेशनल में सही फैसले लिए और इसका परिणाम सभी के सामने है।

तीसरे टी20 इंटरनेशनल मैच में पाकिस्तान की टीम ने प्लेइंग इलेवन में युवा बल्लेबाज हैदर अली, विकेटकीपर बल्लेबाज सरफराज अहमद और गेंदबाज वहाब रियाज को शामिल किया था। शोएब अख्तर ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा है, “मैं बार-बार यंगस्टर्स को खिलाने की दलील दे रहा हूं, हैदर अली को आखिरकार मौका दिया गया और देखें कि उन्होंने किस तरह से इस मौके को भुनाया। मुझे उम्मीद है कि आखिरकार पाकिस्तान ने सबक सीख लिया है। युवा खिलाड़ी ने अपनी पहली T20 मैच में अर्धशतक जमाया और यह देखना शानदार था, चयन के फैसले ने हमें इंग्लैंड के खिलाफ अंतिम T20 मैच में जीत दिलाई।”

रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से फेमस गेंदबाज अख्तर ने कहा कि मोहम्मद हफीज ने अनुभव का महत्व दिखाया है, लेकिन उन्होंने शोएब मलिक के लिए कुछ खतरे की घंटी भी बजा दी है। मलिक को अंतिम T20I में बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिला, जबकि उन्होंने दूसरे मैच में सिर्फ 14 रन बनाए। उन्होंने कहा है, “हफीज का प्रदर्शन अच्छा रहा है, लेकिन शोएब मलिक के चयन पर सवाल हैं। टीम को उसे बल्लेबाजी क्रम में ऊपर रखना चाहिए और उनसे कुछ ओवर गेंदबाजी भी करानी चाहिए।

हैदर अली ने पाकिस्तान के लिए अपने पहले टी20 इंटरनेशनल मैच में अर्धशतक जड़ा। इसी के साथ वह T20I डेब्यू मैच में पाकिस्तान के लिए अर्धशतक जड़ने वाले पहले खिलाड़ी बन गए। हैदर अली और मोहम्मद हफीज ने तीसरे विकेट के लिए 100 रनों की साझेदारी की और इस साझेदारी ने पाकिस्तान को मजबूती और गति प्रदान की। हफीज ने 86 रनों की नाबाद पारी खेली और पाकिस्तान ने निर्धारित 20 ओवरों में कुल 190/4 रन बनाए। इसके जवाब में इंग्लैंड की टीम 185 रन बना सकी और मैच 5 रन से हार गई।

=>
LIVE TV