Wednesday , September 20 2017

पल्स पोलियो अभियान पर भारी पड़ रही आशा कार्यकर्ताओं की हड़ताल का असर

पल्स पोलियो अभियानसुनील सोनकर

मसूरी। उत्तराखंड में चल रही आशा वकर्स की हड़ताल का असर पल्स पोलियो अभियान में देखने को मिला। स्वास्थ्य विभाग के द्वारा पल्स पोलियो अभियान में बच्चों को पिलाई जाने के लिये एनजीओ के माध्यम से कुछ महिलाओं को पल्स पोलियो की ड्यूटी पर लगाया गया।

खेल प्रतिभाओं को निखारने के लिए ‘साई’ ने उठाया बड़ा कदम, खुलेंगे पांच एक्सटेंशन सेंटर

ड्यूटी पर लगाई गई इन महिलाओं को न तो पोलियो जैसी गंभीर बीमारी के बारे में कोई जानकारी है और ना ही उसके बचाव के लिए पिलाई जा रही दवाई के बारे में कोई जानकारी है। मसूरी में कई पल्स पोलियो के बूथो में देखने को मिला की पल्स पालियो की दवाई वाली की किट को लावारिस की तरह छोड रखा था, जिससे कोई भी व्यक्ति बडी असानी से उस किट से छेडछाड कर एक बडी घटना का अंजाम दे सकते था।

पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, अफीम की तस्करी करने वाला शख्स गिरफ्तार

स्वास्थ्य विभाग के द्वारा एनजीओ के माध्यम से पल्स पोलियो की डयूटी पर लगाई गई महिलाओं ने बताया कि बिना आशा कार्यकर्ताओं को उनको बडी दिक्कते झेलनी पड़ रही है। आशा कार्यकर्ताओं के हड़ताल का असर यह रहा कि जहां दो महिलाओं की ड्यूटी होती है, वहां पर एक महिला ही पूरा काम संभाल रही है।

ऐसे में साफ है कि स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के कारण कई छोटे मासूमो की जिंदगी दांव पर लगी हुई है। किसी भी प्रकार की अनहोनी को रोकने के लिए प्रदेश सरकार को जल्द ही सख्त कदम उठाने

 

 

 

=>
LIVE TV