दांत में दिखने वाले धब्‍बों को न करें इग्‍नोर…

आमतौर पर दांतों पर दिखाई देने वाले पीले और भूरे दाग-धब्बों को मुंह और दांतों की उचित देखभाल नहीं करने के वजह से गंदगी के तौर पर देखा जाता है। लेकिन ये कोई जरुरी नहीं है कि दांतों में दिखाई देने वाले ये धब्‍बे किसी मुंह से संबंधित बीमारी या साफ-सफाई के अभाव में हो।

दांत में दिखने वाले धब्‍बों को न करें इग्‍नोर...

ये धब्‍बे दांतों में फ्लोरोसिस के वजह से भी हो सकता है। फ्लोरोसिस एक ऐसी ही समस्या है, जिसमें दांतों पर सफेद या भूरे धब्बे दिखने लगते हैं। इन धब्बों को पहचानकर अगर चिकित्सक से संपर्क करें तो इन्हें ठीक किया जा सकता है।

फ्लोरोसिस कोई गंभीर समस्या नहीं है, ये कास्‍मेटिक समस्‍या है जो हंसते वक्‍त आपकी खूबसूरती को खराब कर सकता है क्योंकि हंसते समय आपके दांत दिखाई देते हैं और उनमें ये धब्बे नजर आते हैं।

इस समुदाय के लोगों ने ट्रांसजेंडर विधेयक पर उठाई आपत्ति

फ्लोरोसिस होने का कारण

ज्‍यादात्तर फ्लोरोसिस की समस्‍या 8 साल से कम उम्र वाले बच्‍चों में देखी जाती है।

8 साल से कम उम्र के बच्चों को ज्यादा फ्लोराइड वाला मंजन करवाने से उनके दांतों में फ्लोरोसिस की समस्या हो सकती है।

दरअसल फ्लोराइड हमारे दांतों के लिए एक जरूरी तत्व है जो इसे मजबूती देता है।

आमतौर पर सभी टूथपेस्ट में फ्लोराइड का इस्तेमाल किया जाता है।

मगर छोटे बच्चों के दांतों के लिए फ्लोराइड की ज्यादा मात्रा खतरनाक हो सकती है इसलिए बाजार में बच्चों के लिए अलग टूथपेस्ट आते हैं, जिनमें फ्लोराइड की मात्रा कम होती है।

जानिए मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने का धार्मिक महत्‍व और फायदे

ज्यादा फ्लोराइड है खतरनाक

ज्यादा फ्लोराइड के इस्तेमाल के वजह से दांतों पर फ्लोरोसिस हो जाता है जिसमें दांतों का रंग हल्का हो जाता है या दांतों की सतह पर अनियमितताएं पैदा हो जाती हैं।

एक बार दांत पूरी तरह से विकसित हो जाता है तब उस पर ज्यादा फ्लोराइड का प्रभाव नहीं पड़ता।

फ्लोरोसिस दांत की बीमारी से ज्यादा कॉस्मेटिक समस्या है।

फ्लोरोसिस के लक्षण

फ्लोरोसिस का मुख्य लक्षण दांतों पर सफेद, पीले या भूरे धब्बे हैं।

कई बार ये धब्बे इतने हल्के होते हैं कि ध्यान देने पर ही दिखाई देते हैं या चिकित्सक की जांच में नजर आते हैं।

हालांकि फ्लोरोसिस इसलिए खतरनाक है क्योंकि समय के साथ ये धब्बे और इनका रंग बढ़ता जाता है इसलिए सही समय पर इसका इलाज जरूरी है।

 

LIVE TV