छोटी घटनाओं को सनसनी पूर्वक अंजाम देकर बड़ा नाम करना चाहते हैं नई उम्र के युवा

छोटे अपराधी छोटी घटनाओं को सनसनी पूर्वक अंजाम देकर अपराध जगत में बड़ा नाम करने लगे हैं। ऐसी कई छोटी घटनाएं हैं जिसमें सनसनी पैदा कर दी गई। छोटे अपराधों की अनदेखी जिले में बड़े मामलों को जन्म दे रहे हैं। इस बात को पुलिस महकमा भी महसूस कर रहा है कि यदि समय रहते पुलिस ने आरोपितों पर उचित कदम उठाया होता तो हत्या, हत्या के प्रयास जैसे कई गंभीर अपराध होते ही नहीं।

मोहद्दीपुर में दौड़ाकर गोली मारने की घटना से हुई थी सनसनी  

कैंट थाना क्षेत्र के मोहद्दीपुर गोली कांड में भी पुलिस पहले मारपीट के मामले की अनदेखी की। वर्चस्व की जंग में दो गैंग में गोलियां चलीं, लेकिन पुलिस ने उनका आपस में समझौता करा दिया। इसकी देन रही कि 21 सितंबर की दोपहर कैंट एरिया के ङ्क्षसघडिय़ां-विशुनपुरवा से लेकर मनबढ़ों ने जमकर उत्पात मचाया था। फिल्मी स्टाइल में दो गुटों के बीच जमकर लड़ाई हुई। दोनों गुटों ने वर्चस्व में गोलियां दागीं। बदमाशों ने मोहद्दीपुर में पहुंचकर जितेंद्र यादव को गोली मार दी।

हरपुर बुदहट थाना क्षेत्र के ग्राम बरयावीर निवासी कामता यादव का कुछ व्यक्तियों से भूमि विवाद था। वह दर्जन भर से अधिक बार पुलिस को प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगा चुके थे, लेकिन पुलिस ने ध्यान नहीं दिया। बीते 11 अगस्त को गांव में पंचायत के दौरान बदमाशों ने उनकी हत्या कर दी।

गोला थाना इसी तरह से ग्राम अहिरौली प्रथम निवासी साबिर अली का कुछ व्यक्तियों से भूमि विवाद था। यह मामला भी पुलिस के पास गया। लेकिन पुलिस ने इसकी अनदेखी की। नतीजा आरोपितों ने 21 सितंबर की शाम को उन्हें चाकू मारकर घायल कर दिया।  यह घटनाएं बानगी मात्र हैं। जिले में ऐसे दर्जनों मामले हैं, जब पुलिस ने छोटे मामलों की अनदेखी की तो वह बड़ी वारदात के रूप में सामने आए हैं

अपराध में उभरते नये चेहरों पर दिया जाएगा विशेष ध्यान

नई उम्र के युवा सनसनी फैलाकर अपराध जगत में अपना नाम बड़ा कर रहे हैं। बाद में वह इस नाम का प्रयोग ठीका पट्टा लेने में कर रहे हैं। इसमें कई युवा ऐसे भी हैं, जिनके परिजन भी उनका सहयोग कर रहे हैं। अपने नाम का प्रभाव वह प्रॉपर्टी डीलिंग के क्षेत्र में भी दिखा रहे हैं। कई जगह भूमि कब्जा करने में भी युवाओं का नाम आगे आया है। अपर पुलिस महानिदेशक दावा शेरपा का कहना है कि चार दिन पूर्व अपराध की समीक्षा के दौरान यह देखा गया कि जिलों में अपराध की संख्या तो नहीं बढ़ी है, लेकिन सनसनी फैलाने वाले अपराध बढ़े हैं। इसमें मोहद्दीपुर गोलीकांड आदि घटनाएं हैं। ऐसे में उभरते अपराधियों पर शिकंजा कसने, गैंगेस्टर की कार्रवाई को लेकर गोरखपुर, महराजगंज, गोंडा, बहराइच के एसएसपी व एसपी को निर्देशित किया गया है।

=>
LIVE TV